दिव्यांगों के लिए मददगार नया ऐप्प

दिल्ली का एक स्टार्टअप ऐसा नया स्मार्टफोन ऐप्प लेकर आया है, जो दिव्यांगों को भारतभर में उनके अनुकूल रेस्तरां, पर्यटन स्थल और अन्य सार्वजनिक स्थानों का पता लगाने में मदद देगा। बिलियनएबल्स नाम के इस ऐप्प के संस्थापक समीर गर्ग (42) ने कहा कि यह भारत में दिव्यांगों के लिए पहला लाइफस्टाइल ऐप्प है ।
          गर्ग जब 19 वर्ष के थे तब रीढ़ में चोट के कारण उनके पैरों को लकवा मार गया था। गर्ग ने पीटीआई भाषा से कहा कई वर्षों तक मुझे समावेशी माहौल खोजने के लिए संघर्ष करना पड़ा, फिर चाहे वह कार्यस्थल हो या सार्वजनिक स्थल। उन्होंने कहा, इस समय भारत में ऐसा कोई केंद्रीयकृत ऑनलाइन मंच नहीं है, जो स्थानों या सेवाओं तक पहुंच के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाता हो।’’ दिव्यांगों को हर सेवा के लिए रेफरल या सर्च ईंजनों की मदद लेनी पड़ती है ।   इसके बाद उन्हें फोन या ईमेल के जरिए अनुकूलता की पुष्टि करनी पड़ती है।
गर्ग ने कहा इसके बाद भी कई बार ऐसा होता है कि जो जानकारी दी गई होती है, वह सही नहीं होती ।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस समय भारत में ऐसे बहुत से संगठन काम कर रहे हैं, जो कौशल आधारित प्रशिक्षण , रैंप और शौचालय जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाते हैं लेकिन यह सूचना कहीं भी एकत्र करके सूचीबद्ध नहीं की गई है।’ इस ऐप्प का कंसेप्ट गर्ग का है, जबकि इसे विकसित सह-संस्थापक दीपक कुमार (24) ने किया है। दीपक हरियाणा के कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग के छात्र हैं।
यह ऐप्प उन विभिन्न स्थानों और सेवाओं को सूचीबद्ध करता है, जो दिव्यांगों के अनुकूल हैं। इन सेवाओं में रेस्तरां, होटल, मॉल, पार्किंग स्थल आदि शामिल हैं। यह ऐप्प इस माह की शुरूआत में गूगल प्लेस्टोर पर लाया गया था। यह नि:शुल्क उपलब्ध है।संपादकीय सहयोग :अतनु दास