अब आएगा फेसबुक स्मार्टफोन, जल्द ही मार्केट में होगा लॉच

जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा है, फेसबुक मोबाइल फोन बनाने पर काम कर रही है और जल्द ही यह अपना पहला फोन लॉच करेगा। एक बड़े अखबार में छपी खबर के मुताबिक फेसबुक इस काम को लेकर काफी आगे बढ़ चुका है। कुछ साइबर जासूसों के हाथ फेसबुक के कुछ अहम दस्तावेज लग गए हैं, जिनके बिना पर यह दावा किया जा रहा है।
हार्डवेयर पर काम करने वाली फेसबुक की एक युनिट ने जनवरी में एक
'मॉड्युलर इलेक्ट्रोमकैनिकल डिवाइस' के पेटेंट के लिए याचिका दायर की है। इस डिवाइस में स्पीकर, कैमरे, माइक्रोफोन, टचस्क्रीन और डिस्प्ले हो सकते हैं। यूएस के पेटेंट ऑफिशल्स को सौंपी गई इस याचिका की समरी में लिखा है, 'एक यूजर मॉड्युलर इलेक्ट्रोमकैनिकल डिवाइस की फंक्शनैलिटी डिवाइस में लगे विभिन्न फंक्शनल मॉड्यूल्स के मुताबिक बदल सकता है।'

वहीं इस खबर पर फेसबुक ने अपनी ओर से अबतक कोई  प्रतिक्रिया नहीं दी है। इससे पहले गूगल के अड्वांस्ड टेक्नॉलजी प्रॉजेक्ट्स के भी हेड रह चुके हैं जिसने प्रॉजेक्ट आरा के तहत मॉड्युलर फोन्स पर काम किया था। गूगल ने इस मॉड्युलर फोन की टेस्टिंग की लेकिन पिछले साल इस प्रॉजेक्ट को ठंडे बस्ते में डाल दिया। अप्रैल में फेसबुक ने स्मार्टफोन के कैमरों की विंडो को ऑगमेंटेड रिऐलिटी से जोड़ने का मिशन लॉन्च किया जिसका उद्देश्य हाई टेक आईवेयर के बजाय स्मार्टफोन्स पर फोकस करना है।

सिलिकन वैली में एक सालाना डिवेलपर्स कॉन्फ्रेंस में मार्क जकरबर्ग ने स्मार्टफोन कैमरों को ऑगमेंटेड रिऐलिटी फीचरों के लिए शुरुआती और महत्वकांक्षी प्लैटफॉर्म बताया था।      

उन्होंने कहा था कि वे कैमरों को पहला मेनस्ट्रीम ऑगमेंटेड रिऐलिटी प्लैटफॉर्म कैमरे के जरिए ही लेकर आएंगे। इससे पहले फेसबुक वर्चुअल रिऐलिटी को अगला बड़ा कम्प्यूटिंग प्लैटफॉर्म बनाने पर जोर दे रहा था। इसके लिए उसने रिफ्ट हेडगेयर और ऑक्युलस युनिट भी बनाई थी।