कान्हा की नगरी में गोवंश की दुर्दशा खोल रही कथित धर्मावलम्बियों की पोल

-जिला प्रशासन भी कर चुका है उद्योगपतियों से कई बार अपील
-प्रशासन के साथ बैठकों में किया वायदा नहीं निभा रहे लोग
-धार्मिक संस्थाएं मौंन, मंदिरों के खजाने से नहीं निकली कौड़ी


मथुरा। कान्हा की नगरी में तथाकथित धर्मावलम्बियों और समाजसेवियों की पोल गोवंश की दुर्दशा खोल रही है। कान्हा की नगरी में करोडों रूपये भगवान श्रीकृष्ण और उनकी प्रिय गाय के नाम पर दान आता है। एक दो नहीं, दर्जनों में नहीं बल्कि सैकडों ऐसी संस्थाएं हैं जो गाय की सेवा के नाम पर देश विदेश से बडा दान ले रही हैं, बावजूद इसके गोवंश आवार है और दुर्दशा ऐसी कि किसी की भी आंखें भर आएं। इतना ही नहीं यहां प्रसिद्ध मंदिरों पर अरबों रूपये की चल अचल संम्पत्ति है। ऐसे मंदिरों की संख्या भी एक दो नहीं बल्कि दर्जनों में है। इन मंदिरों की तरफ से भी आवारा गोवंश की सेवा के लिए हाथ नहीं उठे हैं। ऐसा नहीं है कि गोवंश की यह हालत किसी से छुपी है।

गोवंश को लेकर ग्रामीणों में खूनी संघर्ष
थाना मांट के नगला सुदामा में पूर्व प्रधान कालीचरण और पूर्व प्रधान अमर सिंह में खेत के रास्ते को लेकर पुराना विवाद चला आ रहा है। खेतों में गोवंशों को छोड़ने को लेकर पूर्व प्रधानों में विवाद हो गया। एक-दूसरे पर गोवंशों को खेत में छोड़ने का आरोप लगाने लगे। विवाद बढ़ा तो दोनों पक्ष के लोग लाठी-डंडा लेकर एक-दूसरे पर हमलावर हो गए। जमकर लाठी-डंडे चलने लगे और एक-दूसरे को निशाना बनाकर पथराव करने लगे। नगला सुदामा में अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। सूचना पर पहुंची मांट पुलिस ने घायल हुए दोनों पक्ष के 13 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया।

ग्रांवों में खोली गईं गोशालाओं को नहीं मिल रही सरकारी मदद
ग्रामीणा क्षेत्रों में खोली गईं गोशालाओं को सरकारी मदद नहीं मिलने से ग्रामीण परेशान हैं। एक गोवंश पर तीस रूपये प्रतिदिन की मदद के आश्वासन के साथ सभी ब्लाकों की बडी ग्राम पंचायतों में गोशाला खोलने की योजना पर काम शुरू हुआ लेकिन यह कुछ जगह ही खुलीं और जहां खुलीं वह भी सरकारी मदद नहीं पहुंच रही है। ग्रामीण अपनी तरफ से किसी तरह चारे पानी का इंतजाम कर रहे हैं।

ट्रेन की चपेट मे आकर कटे 12 गोवंश
राया मथुरा रोड पर यमुना एक्सप्रेस वे के नीचे ट्रेन की चपेट में आकर 12 गोवंश कट गये। प्रशासन ने जेसीबी से इनके कटे अंगों को रेलवे ट्रेक से हटावा कर मिट्टी में गढवाया। हादसा उस समय हुआ जब पुलिस तस्करी कर ले जाये जा रहे गोवंश को ट्रक से उतार रही थी।