2005 बीएड फर्जी डिग्री मामले में मथुरा विवि में तीसरे स्थान पर

-कई कालेजों के पूरे के पूरे बैच ही निकली फर्जी
-जनपद के नामीगिरामी कालेजों के नाम इस काली सूची में शामिल 

 

मथुरा। 2005 सत्र की बीएड फर्जी डिग्री प्रकाण में आगरा और अलीगढ मंडल में मथुरा तीसरे स्थान पर है। जनपद की नामीगिरामी शिक्षण संस्थाओं के नाम इस काली सूची में हैं। सूची में उन शिक्षण संस्थाओं के नाम सामिल हैं जिन्हें शिक्षा जगत में बेहद इज्जत की नजर से देखा जाता है। एसआईटी ने डा.बीआर अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा जो सूची सौंपी है उसमें सबसे चैंकाने वाली बात यह है कि कई कालेजों में तो पूरे का पूरा सत्र ही फर्जी साबित हुआ है। मान लीजिये के किसी कालेज में 100 सीट हैं तो उसके 100 अभ्यर्थी ही फर्जी हैं। इसके अलावा कुछ कालेजों में आधे तो कुछ में चैथाई अभ्यर्थी फर्जी हैं।

मथुरा के इन  कालोजों में हुआ फर्जीवाडा
एपीएस कालेज बाजना, केआर गल्र्स कालेज मथुरा, केआर गल्र्स टीचर्स ट्रेनिंग कालेज, आरएसएस कालेज, राजीव अकेडमी, राजीव अकादमी फार टेक्निकल, एसएम कालेज, सर्वोदय महाविद्यालय, श्रीजी बाबा कालेज, गिर्राज महाराज कालेज, उषा एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, बीएसए  कालेज, वन महाराज कालेज, फैज ए आम कालेज, सूर्या एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, गिर्राज महाराज कालेज, श्रीजी बाबा कालेज, एसएम डिग्री कालेज।

यह भी जानें
-विश्वविद्यालय ने एसआईटी से मिली सूची को अपनी वेबसाइट डीबीआरएयू.ओआरजी.इन
-आगरा और अलीगढ मंडल में फर्जी छात्रों की संख्या के मामले में मथुरा तीसरे नम्बर पर है
-विद्यार्थियों से 15 दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है
-विद्यार्थियों को 17 बिंदुओं पर जानकारी देनी होगी
-ऐसा नहीं करने पर उनकी अंकतालिका निरस्त कर दी जाएगी
-एसआईटी ने धोखाधडी, कूटरचित प्रमाणपत्रों का प्रयोग करने जैसी आठ धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है