प्रभारी मंत्री का अस्पताल निरीक्षण मात्र खानापूर्ति

अस्पताल में दवायें नही प्रभारी मंत्री का नही गया इस ओर कोई ध्यान

फिरोजाबाद। प्रदेश सरकार के कबीना मंत्री एवं जनपद के प्रभारी मंत्री ने जिला अस्पताल के औचक निरीक्षण में मात्र सफाई व्यवस्था में सही नही पायी। बाकी उन्हें सब कुछ ठीक ठाक मिला। प्रभारी मंत्री के निरीक्षण को लेकर जनता में विभिन्न प्रकार की चर्चायें है। अधिकांष लोगों का कहना है कि प्रभारी मंत्री ने निरीक्षण के नाम पर मात्र खानापूर्ति की है।

  प्रभारी मंत्री शनिवार की सुबह अस्पताल पहुंचे। उनका अस्पताल निरीक्षण शुक्रवार को होना था जो किन्ही कारणों से निरस्त हो गया था। ऐसे में शनिवार सुबह जब वह अस्पताल निरीक्षण को पहुंचे तो अस्पताल प्रशासन द्वारा सारी व्यवस्थायें चाक चैबंद कर ली गई थी। प्रभारी मंत्री जब अस्पताल पहुंचे तो अस्पताल प्रशासन द्वारा उन्हें हाथो हाथ लिया गया। जिसे देख प्रभारी मंत्री गदगद हो गये। उन्होंने पूरे अस्पताल का निरीक्षण किया लेकिन उन्हें कोई कमी नजर नही आयी। उन्हें मात्र सफाई व्यवस्था में कमी मिली जिसमें उन्होंने सुधार के निर्देष दिये। अस्पताल में दवाओं की समस्या है। जिससे मरीज परेशान है लेकिन प्रभारी मंत्री ने इस ओर कोई ध्यान नही दिया। जिसको लेकर प्रभारी मंत्री का यह निरीक्षण मरीज उनके तीमारदार व लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

मरीजों के साथ आये तीमारदारों को आरोप है कि जिला अस्पताल मेड़ीकल कालेज में तब्दील हो गया है लेकिन इसके बावजूद भी उनके मरीजों को आगरा रैफर किया जा रहा है। प्रभारी मंत्री का इस ओर कोई ध्यान नही गया। प्रभारी मंत्री निरीक्षण के नाम पर मात्र खानापूर्ति करने आये है।  इसके उपरान्त प्रभारी मंत्री ने जैन मंदिर स्थित यातायात चैकी का लोकार्पण किया और यातायात की दृष्टि से अच्छी लोकेषन पर चैकी स्थापित करने की सराहना की। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने जलेसर रोड़ स्थित कान्हा गौषाला का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने पुलिस लाइन स्थित कस्तूरबा गांधी विधालय में बच्चों को स्वेटर वितरण किये।

  इस दौरान उनके साथ डीएम चन्द्रविजय सिंह, एसएसपी सचिन्द्र पटेल, सीडीओ नेहा जैन, सांसद डाॅ चन्द्रसेन जादौन, विधायक डाॅ मुकेश वर्मा, मेयर नूतन राठौर आदि मौजूद रहे।