सि‍वि‍ल एन्क्लेव की शि‍फ्टि‍ग ताजमहल के संरक्षण प्रयासों के अनुकूल

यूपी सरकार और डीएम को सि‍वि‍ल सोसायटी ने दी जानकारी


आगरा। सि‍वि‍ल सोसायटी आगरा ने सर्वोच्‍च न्‍यालय में एम सी मेंहता के द्वारा आगरा में सि‍वि‍ल एन्‍कलेव के स्‍थान परि‍वर्तन के लेकर की गयी आपत्‍ति‍ पर कडा एतराज जताया है और सोसायटी की ओर से उप्र शासन के वकील के माध्‍यम से तथ्‍यपरक जानकारि‍यां रखे जाने की अपेक्षा की है। सोसायटी के सैकेट्री अनि‍ल शर्मा ने कहा कि‍ पता नहीं कि‍ श्री मेहता के पास आगरा को जनता की सहज पहुंंच संभव हो जाने वाले सिवि‍ल एन्‍कलेव न बनने देने के लि‍ये क्‍या तर्क हैं। बकि‍ हकीकत यह है कि‍ सि‍वि‍ल एन्‍केलव का एरुोर्स स्‍टेशन के परि‍सर से बाहर कि‍या जाना लमबे समयसे चल रही जरूरत है, जो कि‍ आतंकवाद फि‍दायनी हमले की वि‍धा के प्रचलन में आ जाने के बाद से राष्‍ट्रीय सुरक्षा के हि‍त में और भी जरूरी हो गयी है।
सिवि‍ल एन्‍कलेव से लैडि‍ग और टेकआफ करने वाले हवाई जहाजों तक पहुंचने वालों की तो खेरिया एयरपोर्ट के अर्जुन नगर गेट पर कडी चैकि‍ंग होती है कि‍न्‍तु सि‍वि‍ल एन्‍कलेव पर दूसरे स्‍थानों से आने वाली फ्लाइटों में से अनेक एसे स्‍थान से आती हैं जो हवाई पट्टी की श्रेणी के हैं तथा नाम मात्र की ही चैकि‍ग संभव है।


एनवायरनमेंट मुद्दा
श्री शर्मा ने कहा कि‍ उ प्र सरकार और ताज ट्रि‍पेजि‍यम जोन कमेटी जो कि‍ एम सी मेहता बनाम संघ सरकार मुदमें में पार्टी हैं के वकीलों को सुनवायी कर रही बेंच के सामने बताना चाहि‍ये कि‍ जहां मौजूदा सि‍वि‍ल एन्‍कलेव की ताजमहल से एरि‍यल दूरी पांच कि‍ मी से भी कम कम है, वहीं जहां इस एन्‍कलेव की शि‍फ्टि‍ग होगी वह स्‍थान ताजमहल से दस कि‍ मी की एरि‍यल दूरी से पर है। इस प्रकार शि‍फ्टि‍ग ताजमहल के लि‍ये पर्यावरण के अधि‍क अनुकूल है।
-- मौजूदा सि‍वि‍ल एन्‍कलेव के समान ही शि‍फ्टि‍ग को प्रस्‍तावि‍त सि‍वि‍ल एन्‍कलेव यूजर एयरक्राफ्ट को भी एयरफोर्स स्‍टेशन आगरा के उस रनवे का ही स्‍तेमाल करना जि‍स से सबधि‍त सभी सूचनाये आधि‍कारि‍क रूप से क्‍लासीफाइड श्रेणी की हैं।फि‍र कैसे कोयी वकील  अपनी ओर से या फि‍र अपने क्‍लाइंट की ओर से लडे जाने वाले वाद में सि‍वि‍ल एन्‍कलेव की केवल लोकेशन शि‍फ्ट हो जाने मात्र से एयरपॉल्‍यूशन बढने की बात कह सकता है।
-जबकि‍ तथ्‍य परक जानकारि‍यों के अनुसार शि‍फ्टि‍ग को प्रस्‍तावि‍त स्‍थल से एयर फोर्स स्‍टेशन आगरा के रनवे तक एयरक्राफ्ट को पहुंचने के लि‍ये केवल पांच सौ मीटर के टैक्सी ट्रैक की जरूरत होगी, जबकि‍ वर्तमान में एयरक्राफ्ट को रनवे तक पहुंचने के लि‍ये कही लम्बाई चल कर  टैक्‍सी ट्रैक पर चलना होता है और यह टैकसी ट्रैक पूरी तरह से एयरुोर्स स्‍टेशन आगरा ताजमहल से पाच कि‍ मी एरयल डि‍सटैंस वाले भाग में है।  
--श्री शर्मा ने कहा है कि‍ उपरोक्‍त सभी जानकारि‍यों तथ्‍यो के रूप में और एम सी मेहता के द्वारा संभावि‍त आपत्‍ति‍यों को नजरअंदाज करने वाले तथ्‍यों के रूप में उठाये जाने को जि‍ला अधि‍कारी आगरा, अध्‍यक्ष ताज ट्रि‍पेजि‍यम जोन प्राधि‍करण के सदस्‍यों औरउ प्रशासन को प्रषि‍त की हैं। जि‍ससे कि‍ इनका वाद सुनवायी के दौरा सरकारी अधि‍वक्‍ता अपना पक्ष इस्‍तेमाल करने में उपयोग कर सकें।