सेल्स टैक्स ऑफिस का चालक, चपरासी लेते थे ’महीनेदारी’ गिरफ्तार

-स्क्रेप व्यापारी ने दोनों को रंगेहाथ पकड़वाया 
-हर महीने लेते थे दस हजार रूपये

-आगरा से आई टीम ने की कार्यवही

मथुरा। सेल्स टेक्स आफिस के कर्मचारी और चपरासी महीनेदारी लेते थे। दोनों को आगरा विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों दबोच लिया। इनके विरुद्ध थाना हाईवे में अभियोग पंजीकृत करा कर जेल भेजा जा रहा है। ट्रैप टीम में निरीक्षक महेश चंद्र गौतम, निरीक्षक शिवराज सिंह, निरीक्षक जसपाल सिंह पवार,निरीक्षक संजय सिंह, हेड कांस्टेबल दीपक सेंगर, हैड कां. अनीता यादव, हैड कां. संध्या निगम व आरक्षी चालक राघवेन्द्र सिंह शामिल रहे। विगत 18 अक्टूबर को अनिल पुत्र भगवान सहाय निवासी होडल ने भ्रष्टाचार निवारण संगठन आगरा में लिखित शिकायत दी थी। पीड़ित का कहना था कि वह अपनी पिकअप गाड़ी से पुरानी बैटरी स्क्रैप लाने का कार्य करता है। सेल्स टैक्स ऑफिस मथुरा में नियुक्त चालक जगदीश मीणा, चपरासी राकेश कुमार उससे कई बार अवैध वसूली के रूप में लाखों रुपए रिश्वत ले चुके हैं।
मामले के अनुसार स्क्रैप डीलर अनिल पुत्र भगवान सहाय अधिकतर बिना बिल के ही अपना व्यापार करते हैं। इसी का फायदा उठाते हुए सेल टैक्स विभाग में चपरासी राकेश और ड्राइवर जगदीश दस हजार रुपए मांग रहे थे। कर्मचारियों की धमकियों से परेशान होकर डीलर ने लिखित में भ्रष्टाचार निवारण संगठन में शिकायत कर दी। डीलर ने आरोप लगाया कि दोनों कर्मचारी पहले भी धमका कर उनसे लाखों रुपए ले चुके हैं। अब भी दस हजार रुपए प्रतिमाह मांग रहे थे।

शिकायत को संज्ञान में लेकर पाउडर लगे नोट डीलर को दिए गए, ताकि दोनों कर्मचारियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया जा सके। नोटों के नंबर भी नोट कर लिये गए। प्लाननिंग के तहत डीलर ने दोनों कर्मचारियों को बुलाया और जैसे ही रुपए उन्हें थमाए पहले से मौजूद टीम के सदस्यों ने गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार को एंटी करप्शन कोर्ट में पेश किया जाएगा।