दरोगा ने काटा चालान तो बिजली विभाग के लाइनमैन ने कर दी थाने की बिजली गुम

 नरेंद्र वशिष्ठ
 फिरोजाबाद अग्रभारत उत्तर प्रदेश उत्तराखंड समाचार
 
फिरोजाबाद से एक रोचक मामला सामने आ रहा है। यहां एक दरोगा ने बिजली विभाग के लाइनमैन की बाइक का चालान कर दिया। लाइनमैन ने दरोगा से खुशामद भी की और अपने अधिकारियों से उसकी बात भी कराई लेकिन दरोगा चालान करने पर अड़ा रहा। दरोगा ने चालान काटा तो लाइनमैन भी कहां चुप बैठने वाला नहीं था। वह वापिस आया और पूरे पुलिस थाने की बिजली ही गायब कर दी। बताया जाता है कि थाने पर छह लाख का बकाया चला आ रहा था, जो काफी समय से जमा नहीं किया गया था।मामला है फिरोजाबाद के लेबर कॉलोनी इलाके का। लेबर कॉलोनी बिजलीघर पर तैनात लाइनमैन श्रीनिवास किसी काम से अपनी बाइक से काशीराम कॉलोनी जा रहा था। इसी दौरान लेबर कॉलोनी के चौकी इंचार्ज दरोगा रमेश कुमार ने उसकी बाइक को रोक लिया। बताया जाता है कि हेलमेट और कागज न होने के कारण दरोगा रमेश ने उसे चालान कटवाने के लिए कहा।
 
श्रीनिवास ने बताया कि उसने दरोगा को अपने बारे में बताया और कहा कि वह लाइन जोड़ने जा रहा है इसलिए उसे फिलहाल जाने दिया जाए। दरोगा नहीं माना तो श्रीनिवास ने फोन पर जेई की बात भी दरोगा से करा दी लेकिन वह चालान काटने पर अड़ा रहा। इसके बाद श्रीनिवास वापिस लौट आया।कुछ देर बाद ही उसके मोबाइल पर मैसेज आ गया कि उसका 500 रुपये का चालान कट गया है। यह देखते ही लाइनमैन का पारा हाई हो गया। वह सीधा फीडर पर पहुंचा और थाना लाइनपार को जाने वाली बिजली की लाइन काट दी। बताया जाता है कि पुलिस थाने पर बिजली विभाग का 6,62,463 रुपया बकाया चला आ रहा था। यही नहीं कनेक्शन काटते ही लाइनमैन ने पुलिस थाने को नोटिस भी जारी करा लिया। जिसमें जल्द से जल्द कनेक्शन जोड़ने और उसका शुल्क भरने का निर्देश दिया गया है। वहीं पुलिस थाने की लाइट कटते ही महकमे में हड़कंप मच गया। विभाग के आला अधिकारियों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से लाइट जोड़ने की गुजारिश की लेकिन विभाग ने बिना बिल जमा हुए लाइट सुचारू करने से इंकार कर दिया। बहरहाल मामला पूरे दिन दोनों विभागों में चर्चा का विषय बना रहा। विद्युत विभाग के लाइनमैन का यह फैसला प्रत्येक पत्रकार को बहुत अच्छा लगा वहीं पर पुलिस विभाग के किसी भी कॉन्स्टेबल को नियमों का पालन न करने पर इस स्थिति में अपनी जिम्मेदारी को पूर्ण रूप से निभाने का पूर्ण अधिकार दिया जाए जैसे के लाइनमैन ने दिया