मेयर डा.मुकेश आर्यबंधु के भाई को नगर आयुक्त ने किया निलंबित

-सफाई नायक महेश काजू का पार्षद को गाली देने वाला वीडियो हुआ था वायलर
-पार्षदों के लामबंद होने और पार्टी की छवि खराब होने के बाद आया फैसला 
-पार्षद भी भाजपा का है और मेयर भी भाजपा से, डेमेज कंट्रोल के लिए उठाया गया कदम
-पार्षद को धमकाने की ऑडियो वायरल होने के बाद एक्शन


मथुरा। मेयर डा.मुकेश आर्यबंधु के भाई सफाई नायक महेश काजू को आयुक्त समीर वर्मा ने निलंबित कर दिया है। उन पर पार्षद दीपक गोला को धमकाने का आरोप है। जिसका ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
इस आॅडियो में सफाई नायक महेश काजू जिस अंदाज में पार्षद को धमका रहा है उसे पूरी तरह से आम जन को सुनाना भी मुश्किल है। बातचीत के दौरान कई बार महेश काजू ने पार्षद के साथ गाली गलौच की है और पिटवाने की धमकी दी है। अब इस आॅडियो को सुनने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं में भी आक्रोश पनप रहा था। मौके की नजाकत को देखते हुए घटना के दस दिन बाद मेयर मुकेश आर्य बंधु ने उनके निलंबन की सिफारिश की। इस पर आयुक्त ने एक्शन लिया है।

पार्टी की हुई किरकिरी
आॅडियो वायरल होने के बाद पार्टी की खूब किरकिरी हुई। दरअसल मेयर डा.मुकेष आर्यबंधु और पार्षद दीपक गोला दोनों भाजपा का प्रतिनिधित्व कर रहे है।ऐसे में मेयर के भाई का पार्षद को इस तरह धमकाना पार्टी के अंधर ही चर्चा बना हुआ है। 

कार्यकर्ता पहले से हैं नाराज
भाजपा का आम कार्यकर्ता पहले से काफी नराज चल रहा हैं, कार्यकर्ताओं का आरोप है कि अधिकारी उनकी नहीं सुनते हैं, जबकि विधायक, सांसद और मेयर उन्हें कोई तवज्जो नहीं दे रहे हैं, ऐसे में पार्षद का वीडियो वायरल होने के बाद मामला और बगढ रहा था।