भागवत कथा का हुआ समापन

मथुरा के फरह स्थिति पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्मस्थली पर 15 जुलाई से शुरू हुई भागवत कथा के अन्तिम दिवस के अवसर पर कथा पांडाल में कई समाजसेवियों का मंच से स्वागत किया गया, कथाव्यास श्रीधाम वृंदावन के संत स्वामी रघुनाथ दास जी महाराज ने गौमाता के लिये कराई गई भागवत कथा को श्रवण करने आये भक्तजनों एवम गौप्रेमीओ से गौमाता को बचाने की अपील की साथ ही उन्होंने समस्त लोगो से एक गौमाता को पालने की अपील भी की।दीन दयाल धाम के निदेशक श्री राजेन्द्र जी ने भागवत के समापन पर क्षेत्रीय जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि उक्त भागवत गौमाता द्वारा ही और गौमाता के लिये आयोजित की गई थी, उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये आपका हृदय से बंदन, साथ ही निदेशक महोदय ने रविवार को गौशाला में आयोजित होने वाले भण्डारे के लिये समस्त क्षेत्रीय जनता का निमंत्रण भी दिया है।