पद्मावत पर खुले पत्र के पीछे कोई गलत मंशा नहीं : स्वरा

मुंबई... अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने कहा है कि उन्होंने ‘‘पद्मावत’’ की आलोचना करते हुए एक खुला पत्र लिखा क्योंकि वह फिल्म के बारे में कुछ सवाल उठाना चाहती थीं। स्वरा ने पत्र में जौहर प्रथा के महिमामंडन के लिए संजय लीला भंसाली की आलोचना की थी जिसके बाद ऑनलाइन विवाद शुरू हो गया था।
अभिनेत्री ने आलोचना पर कहा, ‘‘हर किसी को आलोचना करने और अपना विचार व्यक्त करने का अधिकार है। मेरी तरह दूसरों को भी विचार व्यक्त करने का अधिकार है। मैंने जो महसूस किया, मैंने वह बात रखी।’’ उन्होंने कल शाम यहां एक समारोह में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मैंने काफी विनम्र एवं सम्मानजनक तरीके से अपनी बात रखी। मेरी मंशा खराब नहीं थी।’’ अभिनेत्री ने कहा कि उनका मानना है कि उनके सवाल जायज थे और पूछे जाने चाहिए थे।

स्वरा ने कहा, ‘‘अगर लोग मुझसे सहमत नहीं हैं तो ठीक है। यह लोकतंत्र है, इसलिए अगर लोग समझते हैं कि विचारों का मतभेद हो सकता है तो अच्छा है। चर्चा और बहस होनी चाहिए। यही कला का उद्देश्य है।’’ सोशल मीडिया पर वायरल हुए खुले पत्र में अभिनेत्री ने कहा था कि ‘‘पद्मावत’’ देखने के बाद उन्हें लगता है कि उनका अस्तित्व योनि मात्र तक सिमट कर रह गया है।