जहरखुरानीः गोवर्धन के आश्रम में दो साधुओं की मौत, तीसरा गंभीर


शनिवार की सुबह हुई घटना, जिला पुलिस प्रशासन में मचा हडकंप
जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पहुंचे आश्रम
लखनऊ तक पहुंचा मामला, साधुओं की मौत की उलझी है गुत्थी
आश्रम में एक साल से रह कर साधु कर रहे थे भजन कीर्तन


मथुरा। गोवर्धन परिक्रमा मार्ग स्थित आश्रम में दो साधुओं की मौत से पुलिस प्रशासन में हडकंप है। तीसरे साधु की हालत गंभीर बनी हुई है। घटना शनिवार की सुबह हुई। दो साधुओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की सूचना से प्रदेश की राजधानी लखनऊ तक मामला पहुंच गया। जनपद के आलाधिकारियों ने आश्रम की ओर दौड लगादी। मामले की तहकीकात में आलाधिकारी जुट गये हैं। सुबह जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा.गौरव ग्रोवर भी आश्रम पहुंच गये। एसपी देहात श्रीश चंद्र, एसडीएम गोवर्धन सहित दूसरे आलाधिकारी भी मौके पर जमे रहे। फोरेंसिक टीम को मौके पर बुला लिया गया था। पूरे क्षेत्र को विलग कर दिया गया था। फोरेंसिक टीम ने आश्रम से जांच के लिए नमूने लिये हैं। चिकित्सकों के पैनल ने दोनों मृत साधुओं का पोस्टमार्टम किया है।  
मथुरा के गोवर्धन में शनिवार की सुबह संदिग्ध हालात में दो साधुओं की मौत हो गई, जबकि एक अन्य साधु की हालत गंभीर है। तीनों साधु एक ही आश्रम में रहते थे। सुबह इन्होंने चाय पी थी। चाय में विषाक्त पदार्थ मिला होने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। 
गोवर्धन मार्ग स्थित गिरिराज बगीचा के पीछे जंगल में आश्रम तीनों साधु रहते थे। शनिवार सुबह दो साधु आश्रम में मृत मिले, जबकि तीसरे की हालत गंभीर है। मृतकों में साधु गोपाल दास और श्याम सुंदर दास हैं। रामबाबू को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रामबाबू को पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया, जहां हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल मथुरा के लिए रेफर कर दिया गया। पुलिस ने साधु गोपालदास और और श्याम सुंदर दास के और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मृतक साधु गोपालदास के भाई टीकम ने बताया कि जहर देकर साधुओं की हत्या की गई है। आश्रम में दवाईयों की बदबू आ रही है। उन्होंने बताया कि यह बताया जा रहा है साधुओं ने चाय पी है, जिसके बाद तीनों की हालत बिगड गई। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गोवर्धन के प्रभारी डा. कुरैसी ने बताया कि सुबह नौ बजे के करीब एम्बूलेंस आई जिसमें साधु को लाया गया जिनकी मौत हो चुकी थी। साथ आये लोगों ने बताया कि इन्होंने चाय पी है। हमने थाना गोवर्धन पुलिस को सूचित कर दिया गया। दूसरे मृत साधु को यहां नहीं लाया गया। रामबाबा को यहां लाया गया उनकी हालत गंभीर थी उन्हें मथुरा जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। उन्होंने कहाकि मौत की वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही सामने आ सकेगी।  

प्रकाश में आया है जहां दो साधुओ की मौके पर ही मौत हो गई वहीं एक साधु को गंभीर अवस्था मे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि गोवर्धन के गिरिराज बगीचा के पीछे एक आश्रम में तीन साधु विगत एक साल से भजन साधना कर रहे थे। शनिवार सुबह करीब दस बजे आश्रम में दो साधुओ की मौत की सूचना मिली। उन्होंने बताया कि साधु का इलाज बेहतर से बेहतर कराया जायेगा।
-सर्वज्ञराम मिश्र, जिलाधिकारी मथुरा


थाना गोवर्धन क्षेत्र से सूचना प्राप्त हुई कि यहां पर एक घर में तीन साधु रहते थे, किन्हीं कारणों से उनकी तबियत खराब हुई है। दो की मौत हो गई है। रामबाबू को हाॅस्पीटल में भर्ती कराया गया है। घटना स्थल का जिलाधिकारी के साथ निरीक्षण किया गया है। रामबाबू से बात हुई है उनका कहना है कि सुबह तीनों ने चाय बनाई है। पोस्टमार्ट पैनल से कराया जा रहा है। फोरेंसिंग टीम द्वारा घटना स्थल पर निरीक्षण किया गया है, नमूने लिये जा रहे हैं। जिन साधु का इलाज चल रहा है उनके संबंध में चिकित्सकों को निर्देश दिये गये हैं। मामले की जांच के आदेश दिये गये हैं।
-डा.गौरव ग्रोवर, एसएसपी मथुरा