पुलिस ने चिता से उठाकर युवक का शव को पोटमार्टम के लिए भेजा

शमशान में पुलिस की ग्रामीणों के साथ हुई नौकझौंक

शमशान में पुलिस का विरोध करते ग्रामीण। 

मथुरा ।  बरसाना के गांव जानू में पुलिस ने मृतक के शव को चिता से उठाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। ग्रामीणों ने इसके लिए पुलिस का विरोध किया। इसे लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच जमकर नौकझौंक हुई।
बरसाना के गांव जानू में 38 वर्षीय रामअवतार नामक व्यक्ति की मौत हो गई। इसके बाद ग्रामीण युवक के शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले गये। अंतिम संस्कार को लेकर मृतक के परिजन इससे पहल आपस में भिड गये थे। मृतक की मां और दूसरे ग्रामीणों का कहना था की युवक के सर में   चोट लगने के कारण मौत हुई है। जबकि मृतक के भाई और जीजा का आरोप था कि युवक के साथ मारपीट हुई है, मारपीट के दौरान लगी चोट के कारण उसकी मौत हुई है। इसी झगडे के बीच ग्रामीण युवक के शव को लेेकर श्मशान स्थल पहुंच गये और चिता पर शव को रख कर अंतिम संस्कार करने की तैयारी शुरू कर दी। इसी बीच पुलिस भी श्मशान स्थल पर पहुंच गई और शव का कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए ला जाने लगी। ग्रामीणों ने इसका विरोध किया और पुलिस के साथ नौकझौंक भी हुई।


शमशान में शव को कब्जे में लेती पुलिस।