कोविड 19 के दौर में जीएलए के सैकड़ों छात्र बड़े पैकेज पर चयनित

छात्रों को मिल रहे 6 लाख से लेकर 32 लाख तक के पैकेज : नारायण दास अग्रवाल
 
मथुरा  कोरोना की आहट से पहले पिछले सत्र में 260 से अधिक कंपनियों में 1700 से अधिक छात्रों को रोजगार दिलाकर कीर्तिमान स्थापित करने वाले जीएलए विश्वविद्यालय ने कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौर में 40 से अधिक कंपनियों में 190 से अधिक छात्रों को रोजगार दिलाकर सत्र 2020-21 में एक नया रिकॉर्ड कायम किया है।
 
बताते चलें कि जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा की जहां लॉकडाउन के दौर में भी छात्रों को रोजगार दिलाने का सिलसिला और पठन पाठ्न प्रक्रिया सुचारू रूप से ऑनलाइन चलती रही। टे्रनिंग एंड प्लेसमेंट विभाग की टीम ने अपने पूर्ण प्रयासों से माइक्रोसॉफ्ट, टीसीएस, कैपजेमिनी, वीवीडीएन, सेमसंग आइरेक्स, मोंटेकार्लो, टेक्नोवर्ट, सीडीके ग्लोबल, जेमिनी सॉल्यूशन, एनालाइटिक्स विद्या, मेट्रिक स्ट्रीम, लिडो, हाइक एजुकेषन, माइएनाटॉमी, इब्यूलिएंट सिक्यॉरटीज आदि कंपनियों से संपर्क साधकर ऑनलाइन साक्षात्कार और परीक्षा के माध्यम से सत्र 2020-21 के 190 से अधिक छात्रों को 6 लाख से 32 लाख के सालाना पैकेज पर रोजगार दिलाया है। वर्तमान में 26 से अधिक कंपनियों में रोजगार हेतु छात्रों के साक्षात्कार और परीक्षा की प्रक्रिया सुचारू है। यह प्रक्रिया पूर्ण होते ही सैकड़ों छात्रों को और रोजगार मिलने की संभावना है।   
 
शत-प्रतिशत छात्रों को रोजगारपरक बनाने के लिए विश्वविद्यालय की टे्रनिंग एंड डेवलपमेंट टीम छात्रों को हेकाथॉन्स, लर्नाथॉन्स पर कॉम्पटीषन कोडिंग करा रही है। इसके अलावा पाइथन, जावा, फुलस्टेक डेवलपमेंट, डाटा स्ट्रक्चर, पीएचपी भी छात्रों को बतायी जा रही है। इससे छात्रों की स्किल्स बढ़ रही है। तो वहीं न्यूजैन आईडीसी के माध्यम से छात्र सरकार द्वारा मिल रहे प्रोजेक्टों पर कार्य कर उद्यमिता की ओर अग्रसर हो रहे हैं। जीएलए की खास बात यह है कि लर्निंग के साथ-साथ अर्निंग भी शुरू हो जाती है। एक वर्श पहले से ही सैकड़ों छात्रों की कंपनी में इंटर्नषिप के साथ-साथ 20 से लेकर 50 हजार माह तक की अर्निंग शुरू हो जाती है, जिससे जीएलए को दूसरे संस्थानों से अलग आंका जाता है। विश्वविद्यालय के कुलाधिपति नारायण दास अग्रवाल ने कहा कि सरकार के निर्देशों का पालन व गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय में पहले की तरह छात्रों की पढ़ाई जल्द शुरू होगी। साथ ही साथ कंपनियों के कैंपस प्लेसमेंट प्रक्रिया में भी दोगुनी तेजी आयेगी। छात्रों को मिल रहे रोजगार का अनुमान लगाते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार जीएलए पिछले शैक्षणिक सत्रों में प्लेसमेंट के नए रिकॉर्ड दर रिकॉर्ड दर्ज करता आ रहा है। इस नए सत्र में भी 3000 से अधिक छात्रों को रोजगार मिलने की संभावना है। अब छात्रों को 6 लाख से लेकर 32 लाख तक के पैकेज पर रोजगार मिल रहे हैं।