दुनिया की सबसे उँची अटल- टनल की इंजीनियरिंग के लिए आगरा के बिग्रेडियर मनोज कुमार युवाओं के प्रेरणता बने


आगरा  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया की सबसे उँची अटल टनल का रोहतांग मे लोकार्पण किया । इस अटल टनल के मुख्य अभियंता रहे आगरा के ही शख्सियत बिग्रेडियर मनोज कुमार इसके मुख्य शिल्पकारों में से एक थे। उनके इस गौरवशाली सराहनीय कार्य के लिए राजा बलवंत सिंह इंजीनियरिंग टैकनीकल कैम्पस के द्वारा उनका सम्मान किया गया।
ऐशिया के सबसे विशाल शिक्षण संस्था बलवंत एजूकेशनल सोसायटी के सचिव व अवागढ़ एस्टेट के युवराज अमरीश पाल सिंह  ने ब्रिगेडियर मनोज कुमार को अटल- टनल के निर्माण में उनके सराहनीय योगदान के लिए बधाई दी ।
संस्थान के निदेशक प्रोफेसर बी.एस.कुशवाह ने कहा कि इस प्रोजेक्ट के चीफ इंजीनियर रहे ब्रिगेडियर मनोज कुमार का सम्मान हम सब के लिए एक गौरवशाली पल है। इससे इंजीनियरिंग कर रहे युवाओं को अवश्य प्रेरणा प्राप्त होगी जिससे सही मायने में वे ऐसे अभियंता व सेना के अधिकारियो को अपना सच्चा हीरो व रोल माडल मान सकेंगे। प्रोफेसर पंकज गुप्ता ने कहा कि हमारे आगरा के ही लाल बिग्रेडियर मनोज कुमार जी ने इस अभूतपूर्व अटल टनल के मुख्य अभियंता के तौर पर काम किया जोकि हम सब लोगों के लिए गौरव की बात है।
अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अटल टनल के मुख्य अभियंता रहे बिग्रेडियर मनोज कुमार ने अपने इस प्रोजेक्ट के निर्माण के दौरान के अनुभव को साझा करते हुए बताया कि यहअटल सुरंग करीब 9 किलोमीटर लंबी और 10 मीटर चौड़ी है. इसके बनने से मनाली से लेह जाने में 46 किलोमीटर की दूरी कम हो जायेगी तथा सामारिक तौर से भारत की सैन्य शक्ति में भारी इजाफा होगा। टनल के डिजाइन को इस तरह से बनाया गया है कि कि बर्फ और हिमस्खलन से इस पर कोई असर नही पड़ेगा तथा यहां से यातायात किसी भी मौसम में अवरुद्ध नहीं होगा इसके टनल के अंदर अत्याधुनिक ऑस्ट्रेलियन टनलिंग मेथड का उपयोग किया गया है तथा इसके भीतर का वेंटिलेशन सिस्टम ऑस्ट्रेलियाई तकनीक पर आधारित है। सुरक्षा की दृष्टिकोण से उपयुक्त जगहों पर निकासी द्वार ,टेलीफोन, फायर हायड्रेट, सी.सी.टी.वी.आदि अत्याधुनिक संसाधन प्रयोग किये गये है।
गौरतलब है कि इस टनल को इसे बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन (BRO) ने बनाया है तथा इसके इंजीनियरों और कर्मचारियों के लिए इसे बनाना आसान नहीं था क्योंकि सर्दियों में यहां का तापमान माइनस 30 डिग्री तक चला जाता है। 
आर.बी.एस.इंजीनियरिंग टैक्नीकल कैम्पस के निदेशक प्रोफेसर बी.एस.कुशवाह व निदेशक (वित्त एवं प्रशासनिक) प्रोफेसर पंकज गुप्ता जी तथा डा.डी.एस.तोमर ने बिग्रेडियर मनोज कुमार जी को इस राष्ट्रीय गौरवशाली कार्य के लिए संस्थान की ओर से स्मृति चिह्रन भेंटकर करके सम्मानित किया ।
संस्थान के सभी शिक्षक, शिक्षणोत्तर कर्मचारियों व छात्र/छात्राओं ने इस अभूतपूर्व अटल टनल के आज प्रधानमंत्री जी के द्वारा लोकापर्ण पर हर्ष व्यक्त किया।