हाथरस कांड के विरोध में जारी हैं प्रदर्शन, सत्याग्रह

-गांधी जयंती पर सपाईयों का समाजवादी सत्याग्रह
-गांधी प्रतिमा के नीचे दो घंटे रखा मौन, हाथरस की बेटी को दी मौन श्रद्धांजलि
-राष्ट्रीय संशोधित समाजवादी पार्टी ने नारेबाजी के बाद दिया कलक्ट्रेट पर ज्ञापन


मथुरा। हाथरस कांड के बाद मथुरा में आंदोलन और सत्याग्रह का सिलसिल जारी है। शुक्रवार को समाजवादी पार्टी ने गांधी प्रतिमा के नीचे सत्याग्रह किया वहीं राष्ट्रीय संशोधित समाजवादी पार्टी ने नारेबाजी के बाद कलक्ट्रेट पर ज्ञापन दिया।
   समाजवादी पार्टी एवं मुलायम सिंह यादव यूथ ब्रिगेड ने विकास मार्केट स्थित गांधी प्रतिमा के सामने दो घंटे मौन रहकर समाजवादी सत्याग्रह किया। सत्याग्रह के जरिये हाथरस की बेटी को मौन श्रद्धांजलि दी। समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता एवं एमएलसी संजय लाठर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर  सर्वप्रथम माल्यार्पण किया। उन्होंने कहाकि आज किसान, नौजवान, व्यापारी, श्रमिक, अधिवक्ता बेरोजगारी से और समाचा समाज लूट, हत्या और बलात्कार जैसी घटनाओं से बेजार है। प्रशासन और शासन ने लोकतंत्र की हत्या की है। हाथरस में हैवानियत की शिकार हुई बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार कर हत्या कर दी गई। प्रशासन के द्वारा मुकदमा तक दर्ज नहीं किया गया। उसी के विरोध में समाजवादी पार्टी ने गांधी जयंती के अवसर पर गांधी प्रतिमा के सामने मौन सत्याग्रह किया है। किसान विरोधी तीन बिलों को भाजपा की केंद्र सरकार के द्वारा पास कर दिया गया। वह किसान को आत्महत्या करने पर मजबूर भी कर रहे हं।ै समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष तनवीर अहमद एडवोकेट एवं यूथ ब्रिगेड के जिला अध्यक्ष भारत भूषण शर्मा ने कहा कि भाजपा की सरकार ने जन विरोधी नीतियों के लिए आम जनमानस का अत्यधिक नुकसान किया है। अपराधी बेखौफ होकर घूम रहे हैं कोई विकास कार्य नहीं किया जा रहा साथ ही करोड़ों नौजवान बेरोजगार घूम रहे हैं। केंद्र एवं प्रदेश की सरकार सभी  सरकारी उपक्रमों का निजीकरण भी कर रही है जो जनता के साथ धोखा है। उत्तर प्रदेश की सरकार में अपराधी साठगांठ करके संगठित अपराध कर रहे हैं।

जिला उपाध्यक्ष सौरव चैधरी, राजाराम शर्मा और जागेश्वर यादव ने कहा आने वाले समय में जनता इनको सबक सिखाने का काम करेगी। बहुत ही जल्दी उत्तर प्रदेश में होने वाले उपचुनाव एवं बिहार चुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी।ं इस दौरान यूथ ब्रिगेड के नगर अध्यक्ष सतीश पटेल , सैयद शाहिद अल्वी, पूर्व पार्षद राजेश यादव, चैधरी प्रवीण सिंह, बंटी, दीपक, राधेश्याम, रमेश,  भूपेश , चैधरी गोविंदा, इसराइल, रामकिशन शर्मा, गुलशन कुमार, शिव राम सिंह, ओमवीर, नवाज, भूरा सेठ, नरेश , शबनम कुरेशी, रिंकू चैधरी, इस्माइल खान, लोकेंद्र चैधरी, अमित यादव, राजेश यादव, रवि वाल्मीकि, कृष्णा, सविता, मुन्ना मलिक, गुड्डू खान, राजेंद्र, फेरारी, शैली, अली आरिफ कुरैशी, विशाल यादव, कैलाश कुमार, अफजल, अशोक शर्मा, मजदूर सभा के हाकिम धनगर, अनुकृति, मुनव्वर हुसैन, राजेंद्र माहौर, साहिल  खान, पवन चैधरी,  राजेंद्र फेरारी, अनिल छोकर, चैधरी अनिल वर्मा, सूरज ठेकेदार, कलुआ पांड,े जीतू पांडे, दिगंबर सिंह, किशन सिंह, रामसिंह, इमरान फारुकी, इमरान अब्बासी, आसिफ फारुकी, अफजाल , जीशान, पिंट,ू डॉक्टर तैयब, राशिद, लक्ष्मण यादव, सलीम, मंसूरी, शिवम शर्मा, सचिन ठाकुर, ललित यादव , राजू यादव, सलीम खान, ललित यादव, कार्तिक, पुनीत चैहान, रूप पंडित, फैजान, अनुराग, आकाश ठाकुर, कुलदीप चैधरी,  अभिषेक भारद्वाज,  बिल्लू पंडित, हेमंत राजपूत, गोपाल, दानिश, योगेश पटेल, आकाश तिवारी, विजय ठाकुर, प्रदीप, रजत ठाकुर आदि उपस्थित थे।
 दूसरी ओर राष्ट्रीय संशोधित समाजवादी पार्टी ने नारेबाजी के बाद कलक्ट्रेट पर ज्ञापन दिया।  डीएम कार्यालय के गेट पर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पीडित परिवार को एक करोड का मुआवजा, सरकारी नौकरी, सीबीआई से जांच और आरोपियों को सख्त सजा दिये जाने की मांग की।