स्मृति संस्था ने बांटे 20000 मास्क, सेनेटाइजर और आक्सीजन कैन

80 फीसदी मास्क के प्रयोग से टूटेगी कोरोना चेन, गांधी जयंती पर कोरोना से बचाव का संदेश
ठेल, ढकेल, रेड़ी वालों, रिक्शा चालकों, फल-सब्जी विक्रेताओं और दुकानदारों को किया गया जागरूक

आगरा। सामाजिक संस्था स्मृति शहर वासियों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक कर रही है। दो अक्टूबर यानि गांधी जयंती के दिन संस्था ने शहर भर में मास्क आगरा, सुरक्षित आगरा अभियान चलाया। संस्था का उद्देश्य था कि जो लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं, उन्हें इसका महत्व समझाया जाए और ज्यादा से ज्यादा लोगों को मास्क पहनने के लिए जागरूक किया जाए। इसके तहत शहर के नाई की मंडी, सिकंदरा, खंदारी, राजा की मंडी, खेरिया मोड़, कमलानगर क्षेत्रों में ठेल, ढकेल, रेड़ी वालों, सब्जी-फल विक्रेताओं और दुकानदारों को मास्क उपलब्ध कराए गए। स्मृति संस्था कीं निदेशक एवं इस अभियान कीं प्रमुख रोटेरियन डा. निहारिका मल्होत्रा का कहना था कि हर रोज एक बड़ी संख्या में लोग इन विक्रेताओं से सामान लेते हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। सभी को मास्क उपलब्ध कराने के साथ ही इसके उपयोग के बारे में बताया गया है और नियमित इस्तेमाल के लिए कहा गया है। डा. निहारिका ने बताया कि एक ही दिन में शहर के सात अलग-अलग स्थानों पर अभियान चलाकर लगभग 20000 मास्क, 1000 से अधिक सैनेटाइजर, महिलाओं के लिए 1000 मल्टीविटामिन टैबलेट्स, 1000 आयरन सिरप और 500 प्रोटीन। पाउडर बांटे गए। वहीं बुजुर्ग नागरिकों को 100 से अधिक ऑक्सीजन कैन प्रदान की गईं। रेनबो आईवीएफ कीं निदेशक डॉ जयदीप मल्होत्रा ने कहा कि यदि हम मास्क और शारीरिक दूरी के नियम का पालन ही सही तरीके से करें तो कोरोना की चैन को आसानी से तोड़ सकते हैं। रोटरी क्लब आगरा ताज सिटी और स्मृति के अध्यक्ष डा. नरेंद्र मल्होत्रा ने बताया कि आपस में बात कर रहे दो लोगों ने अगर मास्क नहीं पहना है तो संक्रिमत होने का खतरा 90 प्रतिशत तक, एक व्यक्ति के न पहनने पर 30 प्रतिशत रिस्क खतरा है जबकि यदि दोनों व्यक्तियों ने मास्क पहना है तो यह खतरा सिर्फ 1.5 प्रतिशत ही रह जाता है। दो मास्क पहने व्यक्ति अगर शारीरिक दूरी भी अपनाएं तो संक्रमित होने का कोई खतरा नहीं है। 
रोटरी क्लब आगरा ताज सिटी के शशि शिरोमणि, सतेंद्र सेतिया और राजीव सिंह ने संयुक्त रूप से कहा कि आगरा को सुरक्षित बनाना है तो सभी को मास्क पहनना जरूरी है। उपनिषद संस्था कीं नूतन बजाज और ऋतु बजाज ने बताया कि कोरोना संक्रमण से राहत की सांस मास्क ही दे सकता है। क्लब 35 प्लस कीं अशु मित्तल ने बताया कि घर से बाहर निकलते वक्त, आॅफिस में और भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का प्रयोग बहुत ही जरूरी हो जाता है। 
विभिन्न स्थानों पर मल्होत्रा नर्सिंग होम कीं डा. सरिता दीक्षित, रेनबो हाॅस्पिटल के जीएम राकेश आहूजा, तरूण मैनी, केशवेंद्र सिसौदिया, इंदर मैनी, नवीन कड़ेचा, रवि, साधना, नवनीत उपाध्याय, जगमोहन गोयल, सुगड़ सिंह आदि ने व्यवस्थाएं संभालीं। 

इन संस्थाओं का रहा सहयोग
रोटरी क्लब आगरा ताज सिटी, एरिक हैल्थकेयर, रानी रोलन, गुरमेट क्लब डॉ रेणुका डंग, उपनिषद, जगशांति फाउंडेशन, रेनबो हाॅस्पिटल, डॉ आरएन गोयल फाउंडेशन कीं शशि गोयल, आगरा ऑब्स एंड गायनी सोसायटी, अजीत नगर बाजार कमेटी, जैन ईवेंट्रिक्स कीं शिखा जैन, मल्होत्रा नर्सिंग होम एंड मैटरनिटी सेंटर, एयर 6, पटनी क्राफ्ट, अवितार, यस वी कैन कीं प्रीति फौजदार, अमाया कीं रचना, टाइम्स नाॅओ 24, क्लब 35 प्लस कीं पुष्पा पोपटानी, पूनम सचदेवा, सिमरन अवतानी।