भाकियू का अनिश्चित कालीन धरना समाप्त

-मांगों के साथ डीएम और उर्जा मंत्री को बुलाने की जिद पर अडे थे प्रदर्शनकारी
-अधिकारियों के साथ लगातार हुईं कई दौर की बातचीत के बाद निकला हल
-धरना समाप्त करने के बाद सीएचसी बलदेव पर कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान


मथुरा। बलदेव बिजलीघर पर चल रहा भारतीय किसान यूनियन टिकैत का अनिश्चितकालीन धरना अधिकारियों के आश्वासन पर समाप्त हो गया है। एक सप्ताह चले इस आंदोलन में भाकियू नेताओं की मांगों के साथ ही यह जिद थी कि उर्जा मंत्री और जिलाधिकारी धरना स्थल पर आकर उनकी मांगों को पूरा किये जाने का आश्वासन दें। आंदोलनकारियों को मांग पूरी होने का आश्वासन मिला जिसके बाद धरने को समाप्त कर दिया गया, लेकिन उनकी उर्जा मंत्री और डीएम को धरना स्थल तक लाने की जिद पूरी नहीं हो सकी।  
भाकियू जिलाध्यक्ष राजकुमार तौमर ने बताया कि अधिकारियों की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि 15 अक्टूबर तक किसानों को 18 घंटे बिजली उपलब्ध करा दी जाएगी। अभी तक किसानों को सिर्फ 8 घंटे बिजली मिल रही थी। दूसरी मांग यमुना एक्सप्रेस वे पर बल्देव कट को लेकर थी, इस पर भी सहमति बनी है और जिला प्रशासन अपनी ओर से हर संभव प्रयास करने का वायदा कर चुका है। अगर वायदा खिलाफी हुई तो भाकियू फिर आंदोलन करेगी।
एडीएम प्रशासन सतीशचंद त्रिपाठी, एसडीएम महावन कृष्णानंद तिवारी, बीडीओ स्वेतांग पाण्डेय, एसडीओ  , सीओ सदर आदि अधिकारी गुरूवार को बल्देव बिजलीघर पर धरने पर बैठे किसान और भाकियू नेताओं से मिलने पहुंचे थे। लम्बी बातचीत के बाद बात बनी गई और अधिकारियों की ओर से मिले ठोस आश्वासन के बाद धरना समाप्त कर दिया गया। इससे पहले भी एसडीएम महावन, सीओ महावन, बीडीओ, एसडीओ आदि की किसानों के साथ वार्ता हो चुकी थी लेकिन किसान अपनी मांगों पर अडिग रहे थे। धरना समाप्त करने के बाद भाकियू कार्यकर्ता सीएचसी बलदेव पहुंचे और रक्तदान किया।