जानें मथुरा में आईटीआई संचालक इतने बेचैन क्यों हैं ?

-विधायक के खिलाफ सडक पर उतरे
-कलक्ट्रेट परिसर में किया शस्त्रु नाशक यज्ञ


मथुरा। मथुरा जनपद के आईटीआई संचालक बेचैन हैं। बेचैनी इस कदर कि विधायक के खिलाफ सडक पर उतर आये हैं। आंदोलन कर रहे हैं। विधायक का पुतला फूंक रहे हैं और विधायक के लिए शस्त्रु नाशक यज्ञ कर रहे हैं। इस समूह में करीब 100 आईटीआई के संचालक सामिल हैं और विधायक हैं बल्देव से क्षेत्र से पूरन प्रकाश। मथुरा की 100 निजी आईटीआई पर मान्यता खत्म होने का संकट गहरा गया है। इसके लिए इन आईटीआई के संचालक विधायक पूरन प्रकाशस्त्रु नाशक यज्ञ को दोषी मान रहे हैं। यह वही विधायक हैं जिन्होंने विधान सभा में निजी आईटीआई में छात्रवृति में हेरा फेरी और घोटाला होने का सवाल उठाया था। इसके बाद जो हुआ उसी का नतीजा है आईटीआई की मान्यता पर आया संकट। यह मानना है मथुरा के निजी क्षेत्र की आईटीआई संस्थाओं के संचालकों का। जबकि विधायक कुछ और ही कहते हैं।  
मंगलवार को कलक्ट्रेट परिसर में बल्देव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश के खिलाफ आईटीआई संस्थानों के संचालकों ने विरोध का बिगुल फूंका है। शस्त्रु नाशक यज्ञ का आयोजन किया। धरने पर बैठे और नारेबाजी की। इनकी ओर से विधायक पर गंभीर आरोप भी लगाये गये हैं। आईटीआई संचालकों ने आरोप लगाया है कि विधयक उनसे धनराशि की मांग कर रहे हैं। अन्यथा की स्थिति में संस्थान बंद कराने की धमकी दी जा रही है। हालांकि विधायक की ओर से कई बार कहा जा चुका है कि उनके द्वारा जनहित और छात्रहित में यह मुद्दा विधान सभा में उठाया गया है। किसी आईटीआई से व्यक्तिगत रूप से इसका कोई लेना देना नहीं हैं। जांच में जिन भी आईटीआई संस्थाओं की गतिविधियां गलत मिली हैं उनके स ंचालक इस तरह की बातें कर रहे हैं। दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। जब सब कुछ हो चुका है तो इस तरह के आरोपों की कोई कीमत नहीं रह जाती। फिलहाल बल्देव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश कोरोना संक्रमित हैं और आइसोलेशन में हैं। उनकी पत्नी और परिवार के दूसरे लोग भी कोरोना पाॅजिटिव पाये गये हैं।