घरेलू के बाद अंतरराष्ट्रीय उड़ानें जल्द

नई दिल्ली । केंद्र सरकार ने साफ किया है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर फैसला घरेलू उड़ानों के अनुभव के आधार पर लिया जाएगा। नागरिक विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि घरेलू उड़ानों को शुरू करने के हमारे अनुभव के आधार पर हमें कुछ प्रक्रियाओं में बदलाव करना पड़ सकता है। इसके बाद ही हम अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के बारे में सोच सकते हैं। वहीं, मंत्रालय ने 40 से 210 मिनट तक का वक्त लेने वाले सात मार्गों की सूची भी बताई, जिसके आधार पर किराया वसूला जाएगा।

वहीं, विमानन मंत्रालय के सचिव प्रदीप सिंह खरौला ने बताया कि हवाई किराये से इतर मुसाफिरों को यूजर डेवलपमेंट फीस (यूडीएफ), पैसेंजर सर्विस फीस (पीएसएफ) और जीएसटी का भुगतान करना होगा। उन्होंने बताया कि आगामी तीन महीनों के निर्धारित की गई किराया प्रणाली की जानकारी सभी एयरलाइंस को दे दी गई है। इससे पहले पुरी ने बताया कि मंत्रालय की कोशिश है कि कोरोना जैसी आपदा के इस दौर में ज्यादा से ज्यादा लोगों को किफायती दरों पर हवाई यात्रा के टिकट उपलब्ध हों, इसी मकसद से सभी गंतव्य का अधिकतम एवं न्यूनतम किराया तय किया गया है। उन्होंने बताया कि पूर्व की तरह एयरलाइंस हवाई किराये को विभिन्न श्रेणियों में बांटकर टिकटों की बिक्री शुरू करेंगी। इसके लिए सात रूट तय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस समय कोई भी मुसाफिर देश के एक छोर से दूसरे छोर के बीच सफर कर सकता है।