सही समय पर आये नवरात्र, नौ दिन तक हर घर में होगी ’अज्ञारी’

-हवन से शुद्ध होता है वातावरण, पर व्रत रखने से करें परहेज
-पुजारियों ने प्रमुख देवी मंदिरों पर चस्पा किये घर पर ही पूजा करने वाले संदेश


मथुरा। आदि शक्ति की आराधना का पावन पर्व चैत्र नवरात्र 25 मार्च बुधवार से शुरू होगा। इसे वासंतिक नवरात्र भी कहते हैं। ’इसी दिन हिन्दू नववर्ष यानी नवसंवत्सर 2077 का शुभारम्भ होगा। इस बार किसी तिथि का क्षय नहीं है।  नौ दिन तक हर घर में हवन यानी अज्ञारी होगी। इसके लिए तैयारी भी कर ली गई है। अगर देवी मंदिरों पर लोगों के पहुचंने को प्रतिबंधित कर दिया जाता है तो इसका और ज्यादा लाभ मिलेगा। इस हवन सामग्री यानी अज्ञारी को घर से ले जाकर देवी मंदिर पर अप्रित करने की आवधारणा रही है, लेकिन अगर लोग देवी मंदिर पर नहीं पहुचेंगे तो विधिविधान से घर में ही यह पूरा अनुष्ठान करेंगे। जिससे घर का वातावरण शुद्ध होगा। लोग देवी मंदिाों पर एकत्रित न हों इसके लिए पूरे इंतजाम किये गये है, देवी मंदिरों पर पुजारियों ने बाकायदा लिख कर लोगों को मंदिर नहीं आने की अपील की है। वृंदावन के प्रमुख देवी मंदिर कात्यायनी शक्त्पिीठ के महंत नित्यानंद महाराज ने बताया कि मंदिर के अंदर ही सभी अनुष्ठान पूरे किये जाएंगे। श्रद्धालुओं से अपील की गई कि वह न आएं। वृंदावन के दूसरे चामुण्डा देवी मंदिर पर भी भक्तों का प्रवेश नहीं मिलेगा। जिन देवी मंदिरों पर मेला लगता है वहां इस बार मेलों का आयोजन नहीं होगा।  यमुनापार में स्थित मां चंद्रावल देवी मंदिर, छाता क्षेत्र में स्थित नरी सेमरी देवी मंदिर, नंदगांव स्थित सांचैली देवी मंदिर पर लगने वाले विषाल मेला स्थगित कर दिये गये हैं। वहीं शहर के अंदर  कैंट स्थित कैंट काली देवी मंदिर, चर्चिका, चामुण्डा, महाविद्या आदि देवी मंदिरों पर लगने वाले मेला भी स्थगित किये गये हैं।

चेटीचंड पर्व के कार्यक्रम स्थिगित
सिंधी जनरल पंचायत ने चेटीचंड पर्व पर नगर में निकलने वाली भगवान झूलेलाल की शोभायात्रा व अन्य सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए है। मीडिया प्रभारी किशोर इसरानी ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार की गाइडलाइन के अनुसार 25 मार्च को चेटीचंड पर्व पर जयंती के सभी कार्यक्रम व शोभायात्रा रदद कर दिए गए हैं। सिंधी उत्सव के संयोजक रामचंद्र खत्री ने इस दौरान लोगों से घर पर ही रहकर जयंती मनाने की अपील की है।  70 वर्षों से मनाए जाते रहे इस पर्व को राष्ट्र हित में स्थागित किया है। पंचायत के सभी पदाधिकारियों ने इस बार घर पर ही जयंती मनाने की अपील की है।

यमुना छट मेला स्थगित
30 मार्च को पड रहे यमुना जन्म महोत्सव के कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया गया है। इस दिन निकलने वाले शोभायात्रा में बडी संख्या में लोग एकत्रित होते थे। श्री माथुर चतुर्वेद परिषद के परिष्ठ उपाध्यक्ष राकेश तिवारी ने लोगों से अपील की है कि वह घर में रह कर ही अनुष्ठान करें।

रामायण प्रचारिणी सभा ने स्ािगित किये प्रवचन
रामायणी प्रचारणी सभा के 77 वें उत्सव पर 25 मार्च से दो अप्रैल तक मसानी स्थित चित्रकूट परिसर में  प्रस्तावित रामकथा प्रवचन समारोह को स्थिगित कर दिया गया है। यह जानकारी सभा के मंत्री लक्ष्मण प्रसाद ने दी है।