नोएडा पूरी तरह से लॉक डाउन, कई गाडियां डीएनडी बॉर्डर पर फंसी

नोएडा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद से नोएडा को पूरी तरह से लॉक डाउन कर दिया गया है। जिसकी वजह से सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं दिल्ली-नोएडा को जोडने वाले डीएनडी पर नोएडा की सीमा सील होने के चलते कई गाडियां फंसी हुई हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए राजधानी लखनऊ समेत 16 जिलों में अगले तीन दिनों के लिये लॉकडाउन घोषित कर दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यहां संवाददाताओं से कहा, प्रदेश के लोगों ने जनता कफ्र्यू में सराहनीय योगदान किया है। हमारा यह कार्यक्रम अभी जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे 16 जिले जहां कोरोना वायरस से कोई भी व्यक्ति प्रभावित है, या उसे पृथक किया गया है, उन जनपदों को 23 से 25 मार्च तक पूरी तरह लॉकडाउन किया गया है। उन्होंने बताया कि इन जिलों में आगरा, लखनऊ, नोएडा, गाजियाबाद, मुरादाबाद, वाराणसी, लखीमपुर खीरी, बरेली, आजमगढ़, कानपुर, मेरठ, प्रयागराज, अलीगढ़, गोरखपुर, पीलीभीत और सहारनपुर शामिल हैं। योगी ने कहा कि इन जिलों के सभी नागरिकों से अपील है कि वे कहीं बाहर न निकलें। अनावश्यक भीड़ न लगाएं और सार्वजनिक स्थानों पर न जाए, क्योंकि वे उस दौर में खड़े हैं, जहां थोड़ी सी भी लापरवाही नुकसानदेह हो सकती है। इन जिलों में पुलिस और प्रशासन की गश्त होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दायरे में आने वाले जिलों में किसी भी तरह की कोई गतिविधि नहीं होगी। अगले 23 से 25 मार्च तक यह व्यवस्था लागू रहेगी और इसके बारे में फिर समीक्षा की जाएगी। योगी ने कहा, ‘जनता के व्यापक हित में हमें यह कदम उठाना पड़ रहा है। इन 16 जिलों को पूरी तरह ‘सेनिटाइज’ (संक्रमण मुक्त) किया जाएगा। सफाई का काम पिछले तीन दिनों से लगातार चल रहा है।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि 23 से 25 मार्च तक उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की सभी सेवाएं भी पूरी तरह बंद रहेंगी। साथ ही प्रदेश की अंतरराज्यीय कनेक्टिविटी को भी पूरी तरह बंद किया जाएगा। अगले तीन दिनों तक उत्तर प्रदेश से कोई भी बस किसी भी दूसरे राज्य या नेपाल नहीं जाएगी।