प्यार में धोखा: वीवो एप का प्यार फेसबुक पर वायरल’

रेप आरोपी के बचाव में मां और बहिनों ने दी थी आत्महत्या की धमकी
वायरल वीडियो में तीनों महिलायें पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाती दिखीं थी 

आगरा। वीवो एप पर मिली बनारस की युवती ने ताजगंज के युवक पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। आरोपित के बचाव में उसकी सगी दो बहिनें और मां आ गई। उन्होंने पीड़ित युवती के फोटो और नाम को फेसबुक पर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वह भाई के प्यार में यह भूल गई  कि किसी भी रेप पीड़िता का असली पहचान उजागर नहीं की जा सकती। यह भी अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसा कानून के जानकारों का कहना है। वायरल वीडियो में महिलायें पीएम, सीएम और महिला आयोग से गुहार लगाते दिखाई दी, साथ ही कह रही हैं कि भाई को जेल हुई तो वह आत्महत्या कर लेंगी।

ये थे पूरा मामला 
 बनारस निवासी रेश्मा (काल्पनिक नाम) की डेढ़ साल पहले आगरा के नालंदा टाउन निवासी करन खुराना से वीवो एप के जरिए बातचीत शुरू हुई थी। दोनो की बातचीत प्यार में बदल गई। रेश्मा ने बताया कि करन खुराना अपने राम नाम के दोस्त के साथ 21 जून 2019 को बुलट मोटरसाइकिल से बनारस आया था। उसके घर से करीब दो किमी दूर गोकुलकुंज स्थित एक होटल में रुका था। वह दो बार रेश्मा के कमरे में आया। 23 जून को बाइक से ही आगरा लौटा। सौलह सौ रुपये आगरा आने के लिए देकर भी आया। 25 जून को रेश्मा आगरा पहुंची। करन खुद उसे बस स्टैंड पर लेने गया। फतेहाबाद रोड स्थित विशाल मेगा मार्ट के पास एक होटल में कमरा लिया। 29 जून को करन बाइक से ही नोयडा लेकर गया। वहां भी एक होटल में रुके। इस बीच अपनी बहिन के घर गया था। वहां दो दिन रुकने के बाद ताजगंज के ही नालंदा टाउन में एक खाली फ्लैट पर ले गया।

किरायेदार बताकर रखा था फ्लैट में
आरोपी ने अपनी रेश्मा को बहिन के फ्लैट में रखा। पड़ोसियों के पूछने पर यह बताया कि बनारस की है। मॉल में नौकरी करती है। इसका कोई नहीं है। रेश्मा का कहना है कि करन रोजाना फ्लैट पर आता था। वह पूरे दिन में एक बार ही खाना लेकर आता था। सुबह से लेकर शाम तक भूखी रहती। यह बात कहीं तो करन ने कहा कि पैसों की परेशानी है। ढाई महीने तक फ्लैट में रही। इस दौरान करन की और सच्चाई सामने आई। उसका एक अन्य लड़की से भी प्यार है। रेश्मा को लगा कि करन उसे धोखा दे रहा है, तो उसने 29 अगस्त को शादी करने की बात कही। इस पर करन से साफ कह दिया कि मैं तुमसे शादी नहीं कर सकता और वहां से चला गया। उसी दिन करन की दो बहिनें फ्लैट पर आर्इं और धमकी देने लगीं।

परिजनों ने भी कर दी धोखधड़ी
रेश्मा को लगा कि उसका तो सबकुछ उजड़ गया। उसने डायल 100 पर सूचना दी। मामला पुलिस चौकी पर पहुंचा। वहां से कह दिया कि सुबह थाना ताजगंज में आना। इस बीच करन खुराना के परिजनों को लगा कि लड़की को नहीं मनाया तो बेटे को जेल हो सकती है। वह किसी तरह रेश्मा को मनाकर फिर फ्लैट पर ले गये। उससे कहा कि तेरी शादी करन से करा देंगे, तुम थाने में शिकायत वापस ले लेना। दूसरे दिन करने के परिजन रेश्मा को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस ने भी रेश्मा की सहमति देख कोई कार्रवाई नहीं की। करन की बहिन रेश्मा को लेकर रॉयल होटल में पहुंची। वहां उसे दो दिन कमरें में रखा और कह दिया कि तुम दोनों की जल्द ही शादी करा देंगे। वह जानबूझकर फ्लैट पर नहीं ले गये।

ट्रेन में छोड़कर भाग गया था आरोपी
रेश्मा के मुताबिक तीसरे दिन होटल में करन की दो बहिनें आर्इं। उन्होंने कहा कि करन के साथ तुम कहीं भी जाओ हमारा उससे कोई लेना देना नहीं है। करन होटल के बाहर ही खड़ा था। वह खुशी-खुशी तैयार होकर करन के साथ होटल से निकली। वह उसे लेकर सीधा रेलवे स्टेशन पहुंचा। उसने बनारस की टिकिट खरीदी। करन बार-बार सॉरी बोल रहा था। रेश्मा को उसकी बातों पर अब भरोसा नहीं रहा था। रेश्मा ने साफ कह दिया कि करन तुम्हारे दिल में कुछ गलत चल रहा है। तुम मुझे धोखा मत देना वर्ना में मर जाऊंगी। वह खाने के लिए कुछ लेकर आया और मुझे खिला दिया। उसके बाद रेश्मा की आंख लखनऊ में खुली। वहां देखा तो करन लापता था।

मां और बहिनों ने की साजिश
रेश्मा ने जीआरपी लखनऊ में करन के लापता होने की सूचना दी। वहां से ही करन की बहिन को फोन किया तो वह उल्टा सीधा आरोप लगाने लगी। रेश्मा ने वहीं से करने के की टीटी से बात कराई। टीटी और अन्य यात्रियों का कहना था कि करन तो कानपुर में ही उतर गया था। यह भी कहकर उतरा था कि इस लड़की का ध्यान रखना। रेश्मा वहीं पर रोने लगी। करन उसके पास रखे रुपये और ज्वेलरी लेकर भागा था। आगरा आने के लिए किराया लोगों ने दस-दस रुपये चंदा करके दिया। वह सीधा थाना ताजगंज पहुंची और मुकदमा दर्ज कराया। रेश्मा ने बताया उसके मां-बाप मर चुके हैं। वह वर्ष 2008 तक अनाथआश्रम में रही है। उसके बाद मॉल में नौकरी करके गुजारा कर रही थी। उसकी शादी 29 जून को बनारस में ही हो रही थी। करन ने उसे आगरा बुला लिया था।

युवती को कर रही बदनाम
करन खुराना को बचाने के लिए उसकी दो बहिन और मां ने एक वीडियो बनाकर फेसबुक पर वायरल किया । उसमें वह कहती दिखा रही कि उसके भाई को फंसाया गया है। रेश्मा नाम की लड़की है जो फेसबुक पर अलग-अलग नाम से आईडी बनाकर लड़कों को फंसाती है। हमारे भाई को जेल हुई तो वह आत्महत्या कर लेंगी। वह पीएम, सीएम और महिला आयोग से भी इंसाफ की गुहार लगा रही हैं। पुलिस आईटी एक्सपर्ट के मुताबिक सोशल मीडिया पर रेप पीड़िता की असली पहचान करना अपराध है।