कोरोना से भारत को बड़ा खतरा, कई कंपनियां हो सकती है दिवालिया

नई दिल्ली।  कोरोना वायरस की वजह से भारत में व्यवस्थित वित्तीय लेनदेन पर बड़ा असर पड़ सकता है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने अपनी एक रिपोर्ट में यह बात कही है। भारत की तुलना में जापान में यह समस्या कम होगी और अन्य देशों पर इसका कुछ खास असर नहीं होगा। इस बारे में मूडीज ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा, ‘वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के फैलने की वजह से आर्थिक सुस्ती का असर देखने को मिलेगा। एशिया पैसिफिक क्षेत्र के देशों पर इसका असर विशेष तौर पर देखने को मिलेगा।’ यह भी कहा गया कि यह असर इस बात पर निर्भर करता है कि यहां कोरोना वायरस आखिर कब तक एक्टिव रहता है। वर्तमान में मूडीज का अनुमान है कि प्रतिदिन आधार पर यह अभी बढ़ेगा। मूडीज के मुताबिक, भारत में संपत्ति आधारित सिक्योरिटीज (ए.बी.एस-एसेट बेस सिक्योरिटीज) लेनदेन पर दिवालिया होने का सबसे बड़ा खतरा है। बता दें कि इसी के आधार पर भारत में कॉ​मर्शियल व्हीकल और छोटे कारोबार चलते हैं। मूडीज ने यह भी कहा है कि चीन, ऑस्ट्रेलिया और ​कोरिया में स्ट्रक्चर्ड फाइनेंस सेक्टर्स पर भी असर पड़ेगा। लेकिन भारत की तुलना में यह कम होगा।