कोरोना से शेयर बाजार में हाहाकार- सेंसेक्स 2,919.26 अंक टूट कर बंद

मुंबई  प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स आज भारी गिरावट के साथ बंद हुआ वहीं निफ्टी में गिरावट दर्ज हुई। विश्व स्वास्थ्य संगठन के कोविड-19 को महामारी घोषित करने के बाद वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंका के चलते यह गिरावट आई है। जहां सेसेंक्स 2900 अंक तो वहीं निफ्टी 800 से ज्यादा अंक लुढ़ककर बंद हुआ। इससे पहले दोपहर को सेसेंक्स 3200 अंक तक लुढ़क गया था। शेयर बाजार में भारी गिरावट के चलते अब तक इक्विटी बाजार में निवेशकों के 18 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा डूब गए। इससे पहले बीएसई सेंसेक्स सुबह लगभग 1200 अंकों की गिरावट के साथ खुला और इसमें गिरावट इसके बंद होने तक जारी रही।
दोपहर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स 2707.39 अंकों की ढलान के साथ 32,990.01 के स्तर पर आ गया। खबर लिखे जाने तक 30 शेयरों वाला सूचकांक 3200 अंक लुढ़क गया और इसी प्रकार 50 शेयरों वाला एनएसई निफ्टी 899 अंकों की गिरावट के साथ निचले स्तर जा पहुंचा। सुबह के सत्र में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 82 पैसे टूटकर 74.50 तक पहुंच गया। हालांकि बाद मे इसमें कुछ सुधार हुआ और यह 46 पैसे की गिरावट के साथ 74.14 पर पहुंच गया।
दलाल स्ट्रीट पर मची इस तबाही में निवेशक के 9,15,113 करोड़ रुपए डूब गए और BSE का कुल बाजार पूंजीकरण घटकर 127 लाख करोड़ रुपए हो गया, जो बुधवार को कारोबार बंद होने पर 137 लाख करोड़ रुपए था। सेंसेक्स के सभी शेयर घाटे में कारोबार कर रहे थे। एक्सिस बैंक में 10 फीसदी से अधिक की गिरावट आई। इसके अलावा एसबीआई, हीरो मोटोकॉर्प, आईटीसी, एमएंडएम, बजाज ऑटो और टाइटन में भी भारी बिकवाली देखने को मिली। कारोबारियों के अनुसार डब्ल्यूएचओ द्वारा कोरोना वायरस के प्रकोप को महामारी घोषित करने के बाद वैश्विक बाजारों में अस्थिरता चरम पर है। उन्होंने कहा कि वैश्विक इक्विटी बाजार में चौतरफा बिकवाली के अलावा तेल कीमतों में बड़े पैमाने पर गिरावट और रुपये की कमजोरी ने निवेशकों की चिंताओं को बढ़ा दिया है।