आगरा की इस शादी में सर्व नहीं मुंह से पिलाई थीं लड़कियों ने शराब

सरकार को चूना: जीएसटी ईवे-बिल बनाकर हुआ करोड़पति

पांच साल पहले एक हजार को मोहताज था, भाई की शादी में खर्च कर दिये एक करोड़
फतेहाबाद रोड स्थित नामचीन मैरिज में शराब की लगीं थी एक दर्जन स्टॉल

एम डी खान 


आगरा। अर्धागंनी बोले तो पत्नी-पत्नी का वह पूरा नाम जिसमें वह जिस्म तो दो हैं, पर जान एक होती है, जीवन के किसी भी मोड़ पर या उतार-चढ़ाव में हमेशा कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने वाली ही अर्धांगनी होती है, लेकिन कमला नगर के शातिर मोमबत्ती के निकम्मे और गैरजिम्मेदाराना रवैये को देख उसकी पहली पत्नी शादी के तीन साल बाद ही छोड़कर चली गई थी। वह घर खर्च के लिए ब्याज पर रुपये ले आता और बाद में कर्जदार घर पर हंगामा करते। इस रोज-रोज की परेशान को देख मोमबत्ती की पत्नी उसे छोड़कर चली गई। वहीं मोमबत्ती वर्ष 2017 में दूसरी शादी कर चुका है। बेटे पैदा होने की आलीशान दावत दी और पिछले माह जनवरी में छोटे भाई की शादी में पूरे एक करोड़ रुपये खर्चकर अपने रिश्तेदार और दोस्तों को चौंका दिया है। शादी में खाने से लेकर पीने तक की शानदार व्यवस्था रखी गई। शराब पिलाने के लिए लड़कियों को रखा गया। शादी समारोह व्यापारियों के अलावा जुआरी, सटोरियों और क्रिकेट मैच के बुकियों का अड्डा बना रहा।  

2017 में की थी दूसरी शादी
बाजार के सूत्रों के मुताबिक कमला नगर कर्मयोगी एंकलेव में रहने वाले शातिर मोमबत्ती की शादी वर्ष 2009-10 में हुई थी। पिता रावतपाड़ा में मोमबत्ती की दुकान चलाते थे। शातिर भी पिता के साथ मोमबत्ती बनाने के काम जुट गया। मोमबत्ती ऐसे समाज से ताल्लुक रखता है, जिसमें महिलाएं सोने-चांदी से लदी रहती हैं। मोमबत्ती के घर में राशन के भी लाले थे। घर भी छोटा था। परिवार में आये दिन क्लेश होता। मोमबत्ती पत्नी को खुश करने के लिए दोस्तों से ब्याज पर पैसे ले आता। उससे जुड़े लोग यह तक कहते हैं कि वह एक हजार रुपये भी ब्याज में ले लेता था। पत्नी ने दो से तीन साल मोमबत्ती के साथ गुजारे, लेकिन वह तंगहाली के चलते उसे छोड़कर चली गई। पांच साल तक वह बाजार में काम धंधे की तलाश में लगा रहा। इसी बीच वह जुआरी, सटोरियों के संपर्क भी गया, लेकिन वहां से उसे कामयाबी नहीं मिली। एक जुलाई 2017 उसके लिए अलादीन का चिराग (इसी तारीख को जीएसटी लागू हुई) बनकर आया। मोमबत्ती ने दुकान में ही अपनी गद्दी शुरू कर दी। विभाग में चमचागिरी करके अधिकारियों में घुस गया। कुछ ही महीने बाद मोमबत्ती ने दूसरी शादी कर ली।

दो घंटे में खरीद लाया था 36 लाख की फॉच्यूनर
शातिर बलेनो और डिजायर कार इस्तेमाल करता है। पिछले साल रावतपाड़ा बाजार के कारोबारी के घर में शादी थी। प्रोग्राम में जाने के लिए बड़ी गाड़ी में जाने की बहस हो रही थी। मोमबत्ती के मुंह से निकल गया कि फॉच्यूनर में चलेंगे। इस पर उसके ही एक कर्मचारी ने कमेंट कस दिया। सिविल खराब है, कोई बैंक लोन नहीं देगी और इतनी जल्दी गाड़ी कैसे मिल सकती है। मोमबत्ती ताव में आ गया और बोला फॉच्यूनर तो आज ही आयेगी, शादी में शामिल होने उसी में बैठकर जायेंगे। वह कंपनी गया और वहां से दो घंटे में 36 लाख रुपये आरटीजीएस करके सफेद रंग फॉच्यूनर गाड़ी ले आया। 2019 में ही उसकी पत्नी के बेटा हुआ। लोहामंडी स्थित समाज के नामचीन मैरिजहोम में 1500 लोगों की पार्टी रखी गई। कैटरिंग वाले को प्रति प्लेट साढ़े तीन हजार रुपये पेय किया था।

शादी में सर्व नहीं मुंह से पिला रही थीं लड़की शराब
पिछले साल ही मोमबत्ती ने अपने छोटे भाई, जो कि प्राईवेट टीचर है उसकी शादी की है। शादी फतेहाबाद रोड स्थित नामचीन होटल के पास स्थित फार्म हाउस में रखी गई। उसका किराया ही दस लाख से ऊपर था। शादी में शराब की एक दर्जन स्टॉल लगार्इं गई थीं। प्रत्येक स्टॉल पर दो लड़की और एक बाउंसर रखा गया। समारोह में आये लोगों की डिमांड पर स्टॉल पर खड़ी लड़की अपने हाथ से मुंह में शराब का प्याला लगा रही थी। बतादें कि मोमबत्ती जो उसे कभी देशी ठर्रा भी नसीब नहीं होती थी वह आज संजय प्लेस स्थित नामचीन होटल में सिवास रीगल के पैग लगाता है। इसकी कीमत 4200 रुपये है। भाई की शादी में इससे नीचा कोई ब्रांड नहीं रखा गया था।