महिला पुलिसकर्मियों के लिए रेनबो हाॅस्पिटल और मल्होत्रा नर्सिंग होम में लगाए कैंसर जांच-परामर्श शिविर

फाॅग्सी के आह्वान पर देश भर में महिला पुलिस कर्मियों को पहुंचाया जा रहा स्वास्थ्य लाभ

आगरा। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सिकंदरा स्थित रेनबो हाॅस्पिटल और एमजी रोड स्थित मल्होत्रा नर्सिंग एंड मैटरनिटी होम में निःशुल्क कैंसर जांच एवं परामर्श शिविर लगाए गए। इसमें महिला पुलिस कर्मियों, पुलिस अफसरों-कर्मियों की पत्नियों, परिवारीजनों के साथ ही आम महिलाओं को कैंसर जांच और इससे बचाव के तरीके बताए गए, साथ ही स्वास्थ्य परामर्श मिला।
आठ मार्च यानि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं के स्वास्थ्य, सम्मान और सशक्तिकरण को समर्पित है। दुनिया भर में उनके लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। ऐसे में फेडरेशन आॅफ आॅब्सटेट्रिकल एंड गायनेकोलाॅजिकल सोसायटी आॅफ इंडिया (फाॅग्सी) के आह्वान पर महिला पुलिस कर्मियों के लिए देश भर में निःशुल्क कैंसर जांच व परामर्श शिविर लगाए गए थे। सोसायटी कीं यंग टेलेंट कमेटी की चेयरपर्सन डा. निहारिका मल्होत्रा के निर्देशन में आगरा में यह शिविर दो जगह सिकंदरा स्थित रेनबो हाॅस्पिटल और एमजी रोड स्थित मल्होत्रा नर्सिंग एंड मैटरनिटी होम में लगाए गए थे। शिविर का उद्घाटन सुबह 10 बजे एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद कीं धर्मपत्नी डा. श्रुति बोत्रे ने किया। उन्होंने फाॅग्सी और स्मृति संस्था के प्रयासों की सराहना की। दोपहर 1 बजे तक चले शिविर में महिला पुलिस कर्मियों के साथ ही आम महिलाओं ने बड़ी संख्या में पहुंचकर कैंसर स्क्रीनिंग कराई और बचाव के तरीके सीखे। 
डा. निहारिका मल्होत्रा ने बताया कि भारत में हर साल स्तन कैंसर की वजह से लगभग 70 हजार से अधिक महिलाओं की मृत्यु हो जाती है। उनमें से ज्यादातर प्रजनन आयु वर्ग में हैं। इसी तरह सर्वाइकल कैंसर का पता लगाया जाता है और प्राथमिक अवस्था में इसका 93 फीसदी मामलों में आसानी से उपचार कर लिया जाता है। सोनोग्राफी और मैमोग्राफी से स्तन कैंसर का पता लगाया जाता है। गर्भाशय का कैंसर घातक लेकिन सौभाग्य से रोके जाने वाला कैंसर है, जिसका टीकाकरण कराया जाता है। शिविर का संचालन कर रहीं डा. मनप्रीत शर्मा ने बताया कि देश में सर्वाइकल और ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं के सबसे बडे़ दुश्मन हैं। चूंकि पुलिस में महिला जवान अपने लिए समय नहीं निकाल पाती हैं तो उन्हीं के स्वास्थ्य के मद्देनजर यह शिविर लगाया जाना आवश्यक था।
शिविर में डा. शैमी बंसल, डा. शैली गुप्ता, डा. नीलम माहेश्वरी, डा. सरिता, डा. नीरजा सचदेवा आदि ने अपनी सेवाएं प्रदान कीं। संचालन मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ राजीव लोचन शर्मा ने किया। देश भर में यह शिविर फाॅग्सी के अध्यक्ष डा. अल्पेश गांधी, डा. अनीता सिंह, डा. भाग्यलक्ष्मी, डा. जयदीप मल्होत्रा, डा. नरेंद्र मल्होत्रा, डॉ अर्चना वर्मा, डॉ सुनील शाह, डॉ स्नेहा भुयर, डॉ कल्याण, डा. रूचि पाठक, डा. उमा सिंह के मार्गदर्शन में आयोजित किए जा रहे हैं।