आगरा की सडकों के सुधार और यातायात कुप्रबंधन को रोकने के लि‍ये याचि‍का दायर

मुख्‍य न्‍यायधीश  ने स्‍मार्ट सि‍टी लि‍मि‍टेड सहि‍त नगर नि‍गम और
आगरा वि‍कास प्राधि‍करण आदि‍ से कि‍या जबाब तलब

आगरा । आगरा महानगर की यातायात व्‍यवस्‍था बदहाली के चरम पर है इसके सुधार में नागरि‍क सहभागि‍ता की प्रचलि‍त नीति के तहत भरपूर सहयोग करने के बावजूद कोयी सुधार होने की संभावना न रह जाने पर सि‍वि‍ल सोसायटी आगरा के द्वारा इलहाबाद उच्‍च न्‍यायलय में याचि‍का दाखि‍ल की गयी है। संवि‍धान के अनुक्षेद 226 के तहत दाखि‍ल की गयी इस याचि‍का को वि‍चारार्थ स्‍वीकार करते हुए  इलहाबाद उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायधीश गोवि‍द माथुर एवं न्‍यायधीश स्‍मि‍ता गोपाल की पीठ ने आगरा की सडकों की बदहाली की जानकारी को संज्ञान में लेकर इसे दूर कर  उपयुक्‍त रख रखाव के लि‍ये  के  उचि‍त नि‍र्देश हेतु सुनवायी के लि‍ये स्‍वीकार योग्‍य माना।
याचि‍का में कहा गया है कि‍ आगरा की अधि‍कांश सडकों में गढ्ढे हैं,अति‍क्रमि‍त हैं तथा यातायात प्रबंधन की दृष्‍टि‍ से कुप्रबंधन की स्‍थति‍ में हैं । याची का कहना है कि यातायात कुप्रबंधन के कारण पि‍छले कुछ महीनों में कई की सडक दुघटनाओं में मौत हो चुकी है। याची के द्वारा उठाये गये मुद्दे
को गंभीरता से लेते हुए न्‍यायलय ने कहा कि उपयुक्‍त कारणों को दृष्‍टि‍गत याचि‍का मे बनाये गये प्रति‍वादि‍यों से 24मार्च तक जबाब तलब कि‍या है।

याचि‍का को पुन: 24मार्च 2020 को सुनवायी के लि‍ये सूचीबद्ध करने का र्नि‍देश दि‍या है। 28 फरवरी 2020 को सुनी गयी। इस याचि‍का में नगरायुक्‍त नगर नि‍गम आगरा, आगरा वि‍कास प्राधि‍करण, आगरा स्‍मार्ट सि‍टी लि‍मेटि‍ड के जनरल मैनेजर या मुख्‍य अधि‍शासी को स्‍वयं उपस्‍थत होने का निर्देश दि‍या गया है।  
याचि‍का प्रख्‍यात एडवोकेट अकलंक कुमार जैन के द्वारा अनि‍ल शर्मा सि‍वि‍ल जनर्रल सैकेट्री सोसायटी आगरा की ओर से दायर की गयी है। याचि‍का में मुख्‍य प्रति‍वादी उ प्र शासन के प्रमुख सचि‍व सड़क 
एवं  परि‍वाहन को बनाया गया है। सि‍वि‍ल सोसायटी आगरा के जर्नल सैकेट्री अनि‍ल शर्मा ने कहा है कि आगरा की यातायात व्‍यवस्‍था में सुधार की काफी गुंजायि‍श है,इसके लि‍ये काफी धन में भी आगरा स्‍मार्ट सि‍टी लि‍मेटेड,आगरा नगर निगम और आगरा वि‍कास प्राधि‍करण के माध्‍यम से नि‍रंतर खर्च कि‍या जाता रहा है। कि‍न्‍तु इसके बावजूद महानगर में न तो सडकों का ही सुधार हो सका और नहीं महानगर की जरूरतों के अनुरूप सार्वजनि‍क परि‍वहन व्‍यवस्‍था ही महानगर को दी जा सकी।
महानगर को कोयी भी चौराह ऐसा नहीं है जहां कि नगर नि‍गम ने वाहन चालकों का ध्‍यान वि‍चलि‍त करने के लि‍ये विज्ञापन पट लगा रखे रखे हैं कमोवेश यही स्‍थति‍ नेशनल हाईवे अथार्टी के द्वारा
प्रबंधि‍त हाई वे की है। जोकि वाहन चालको  की एकाग्रता वि‍चलि‍त करने और दुर्घटनाओं का एक बड़ा कारण है।
हरयाली वाटिका आगरा में प्रेस वार्ता आयोजित कर  श्री शिरोमणि सिंह, श्री अनिल शर्मा, श्री राजीव सक्सेना ने ये जानकारी दी।