बरहन में पशु चोरों का आतंक, तमंचे के बल पर ले गए भैंस, गाड़ी से कूदी एक भैंस की मौत


बरहन। आर्यावर्त बैंक आवल खेड़ा में बड़ी डकैती का खुलासा कर भले ही पुलिस अपनी पीठ थपथपा रही हो लेकिन क्षेत्र में वारदातों का सिलसिला कम नहीं हो रहा है। विगत दिनों बरहन और उसके आसपास गांवों में हुई पशु चोरी की घटनाओं का अभी तक पुलिस खुलासा भी नहीं कर सकी है उसके बावजूद बुधवार की रात पशु चोरों ने कई गांवों में पशु चोरी की कयी घटनाओं को अंजाम देकर पशुपालकों में दहशत पैदा कर दी है।
पुलिस की शिथिलता का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले बुधवार को क्षेत्र के गांव बाधनू से तमंचे के बल पर 18 बकरी और एक भैंस ले जाने वाले दो संदिग्धों को ग्रामीणों की मदद से पुलिस को सौंपने के बावजूद पुलिस उनसे सच्चाई उगलवाने के बजाय उनकी एक हफ़्ते से मेहमान नवाजी करने में जुटी हुई है।
पुलिस की शिथिलता के चलते बीती बुधवार की एक ही रात में अज्ञात भैंस चोरों ने कई जगहों पर चोरी की वारदातों को अंजाम दे दिया । सबसे पहले थाना एत्मादपुर क्षेत्र के गांव बास अदोल मौजा चावली निवासी धर्मेंद्र पुत्र ज्ञानी राम के घर धाबा बोल कर उसकी भैंस ले जाने लगे इसी दौरान धर्मेंद्र के जाग जाने पर उसने शोर मचाते हुए ग्रामीणों की मदद से चोरों का पीछा किया। अपने आपको घिरता देख चोरों ने ग्रामीणों पर पथराव कर दिया तथा भैंस छोड़कर चोर भाग गए । चोरों के पथराव करने से धर्मेंद्र के सिर में चोट आई है। चोरों द्वारा दूसरी घटना थाना बरहन क्षेत्र के गांव नगला उदयी मौजा नगला बेल मैं की गई तथा मौका लगते ही यहां के निवासी दान सहाय नट की एक भैंस चोरी कर मैक्स गाड़ी में डाले गए । इसके बाद चोरों ने बरहन थाना क्षेत्र के ही गांव खांडा निवासी चंद्रमोहन के घर पर धावा बोल दिया तथा अपने जानवरों के साथ सो रहे चंद्रमोहन को तमंचे के बल पर उसकी तीन भैंस मैक्स गाड़ी में लादकर जा रहे थे कि मौका लगते ही चंद्रमोहन ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर ग्रामीण जब तक आए तब तक चोर गाड़ी लेकर भाग गए। इसी दौरान नगला उदई से चुराई गई भैंस मैक्स गाड़ी से कूद गई जिससे वह गंभीर घायल हो जाने पर वही पड़ी रह गई । चोर चंद्रमोहन की तीनों में लेकर भाग गए। गाड़ी से गिरी भेंस की कुछ देर बाद मौत हो गई जिसकी खोज करते हुए नगला उदेई से पहुंचे दान सहाय ने पहचान कर अपनी बताया।
बता देंगे 27 जनवरी को बरहन में विनोद कुमार सविता की 27 बकरियां अज्ञात चोर तमंचे के बल पर ले गए । इस वारदात में भी पुलिस अभी तक चोरों का पता नहीं लगा सकी है । इसके बाद 13 फरवरी को बांधनू निवासी देव लाल की 18 बकरी और एक भैंस अज्ञात चोर ले गए ग्रामीणों ने चोरों की आवाज पहचान कर दो संदिग्धों को पकड़ कर पुलिस के हवाले भी किया था लेकिन पुलिस अभी तक उनसे सच्चाई उगलवाने के बजाय मेहमान नवाजी में लगी हुई है।