पंद्रह दिन से अगवा अधिवक्ता को बदमाशों के चंगुल से मुक्त कराया

फीरोजाबाद के मुहल्ला राजपूताना के रहने वाले हैं अधिवक्ता अकरम अंसारी
50 लाख रुपये की  मांगी थी फिरौती

आगरा। पंद्रह दिन पहले सिकंदरा क्षेत्र से अगवा अधिवक्ता बदमाशों के चंगुल में थे। पुलिस की टीम  बीहड़ों में डेरा डाले हुये थीं। सीएम योगी आदित्यनाथ का मंगलवार को आगरा आने का कार्यक्रम था। अधिकारीयों के लिये ये चुनौती थी कि हर हाल में बदमाशों के चंगुल से अधिवक्ता को मुक्त करना है और मंगलवार को पुलिस को सफलता मिल गई। 

अधिवक्ता अकरम अंसारी फीरोजाबाद के मुहल्ला राजपूताना के रहने वाले हैं । सिकंदरा क्षेत्र से 3 फरवरी को उनका अपहरण हो गया था। अपहरणकर्ताओं ने उनके भाई को फ़ोन कर 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। पुलिस अपहरणकर्ताओं की तलाश में लग गई ।  सप्ताह भर से पुलिस की टीमों तांतपुर  और धौलपुर के बीहड़ों में डेरा डाले तलाशी अभियान चलाये हुये थे । उधर साथी अधिवक्ता के अपहरण से  अधिवक्ताओं  में रोष था। एसएसपी बबलू कुमार पुलिस टीम के साथ रविवार रात राजस्थान की सीमा  पर डटे रहे। सोमवार की रात पुलिस ने राजस्थान के बाड़ी से अधिवक्ता अकरम अंसारी को मुक्त करा लिया। अधिवक्ता को अपहरणकर्ताओं ने  एक घर में बंधक बना रखा था। पुलिस अपहृत को मुक्त कराने के बाद आगरा लेकर पहुंची। 

पुलिस की फुलप्रूफ प्लानिंग से हुआ संभव 
अपहरणकर्ताओं को दबोचने को पुलिस ने फुलप्रूफ प्लानिंग की थी। पुलिस ने परिजनों को विश्वास में ले बदमाशों को फिरौती की रकम दिला दी। पुलिस बदमाशों के पीछे लगी रही । सोमवार की रात को पुलिस ने बदमाशों को दबोचकर अधिवक्ता को सकुशल बरामद किया साथ ही फिरौती के 15 लाख रुपये भी बरामद कर लिए।

 

फिरौती के 50 लाख रुपये से शुरू हुई 15 लाख में बनी बात 

अधिवक्ता अकरम अंसारी को तीन फरवरी को बदमाशों ने अगवा किया था। बदमाशों ने फिरौती के लिये परिजनों से फ़ोन पर संपर्क किया था। उसके बाद पुलिस सक्रिय हो गई। फिरौती की रकम को लेकर हुई मांडवली  50 लाख से 15 लाख पर आकर रुकी। बदमाशों ने साथ ही परिजनों को धमकी दी थी की अगर  उन्होंने 15 लाख नहीं मिले तो वे अधिवक्ता को मार देंगे। एसएसपी बबलू कुमार में फाॅर्स के 10 चार पहिया गाड़ियों से और 10 बाइक से टीम को लेकर राजस्थान के बार्डर पर रहे। बदमाशों को दबोचने के लिए पुलिस के पास फुल प्रूफ प्लानिंग थी। पुलिस ने स्वजनों के साथ शामिल होकर बदमाशों को राजस्थान के बीहड़ में फिरौती की रकम दे दी। बदमाशों ने अधिवक्ता के परिजनों से  सोमवार को अधिवक्ता को बाड़ी में गुरुद्वारा से छोड़ने का वादा किया था। पर वे उनको घुमाते रहे। पुलिस भी बदमाशों के  पीछे लगी रही। सोमवार की रात्रि 8 बजे पुलिस टीमों ने बदमाशों को घेर लिया। अपहृत अकरम अंसारी को मुक्त कराने के साथ ही पांच बदमाशों को भी दबोच लिया।