गांजा माफिया ने किया पुलिस पर हमला


मथुरा। तारसी चैराहा पर दो दशकों से मादक पदार्थों की तस्करी कर रहे गांजा माफिया को पकडे जब थाना हाइवे पुलिस पहुंची तो माफिया और उसके साथियों ने पुलिस पर हमला कर दिया। भरतपुर रोड पर कई शिक्षण संस्थान स्थित हैं, यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों को मादक बेचे जाने की सूचना पर पुलिस तारसी चैराहे पर माफिया को पकडने पहुंची थी। माफिया सतीश ने अपने भाई रामवीर, दिलीप निवासी गांव तारसी  को भी साथ में मिला लिया कारोबार को बढ़ाते हुए थोक में गाजा उपलब्ध कराने लगे हैं। बुधवार देर रात पुलिस को सूचना मिली थी। थाना हाईवे में तैनात उपनिरीक्षक राहुल ने अपने साथी के साथ आरोपी को पकड लिया था।, पकडने पर बचाने के आरोपी के साथी पुलिस पर टूट पडे और दरोगा से मारपीट करते हुए गांजे सहित दिलीप को छुडाकर भगा दिया। दरोगा ने फोन पर थाने को सुचित किया।
पुलिस की गाडी पहंची और दविस दी, तब तक आरोपी मौके से भाग चुके थे। दरोगा राहुल दरोगा ने सरकरी काम में बाधा, बलवा और मारपीट की धारा में सतीश, रामवीर, दिलीप, मोहन ,ओमवीर उमाशंकर, मनोज और 15 से 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज  कराया है।
वहीं आरोपियों को कहना है कि पुलिस ने दविस को लेकर चार घरों में तोड फोड की है घरांे का सारा सामान अस्त व्यस्त हो गया है। कार्यवाहक थाना प्रभारी कसाना ने बताया कि पुलिस पर हमले की सूचना पाकर मौके पर गये थे आरोपी नहीं मिले , तोड़फोड़ आरोपियों द्वारा की गई है पुलिस पर आरोप गलत लगा रहे हैं।