बेटी, पत्नी के बाद बेटे को मारने जा रहा था गोली फिर घायल बेटी हुई ’बागी’

-तनाव को देखते हुए गांव में तैनात किया पुलिस बल
-पिता को गोली मार कर उतार मौत के घाट
-पिस्टल लेकर छत पर चढी बेटी, ग्रामीणों ने बमुश्किल बेटी पर पाया काबू
-घायल मां, बेटी को नयति मेडिसिटी में कराया भर्ती
-घायल बेटी और छोटे बेटे के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया हत्या का मुकदमा
-प्रयागराज में पढती है बेटी, घटना के दो दिन पहले आई थी गांव
-पिता ने लाइसेंसी पिस्टल से दागी गोली


मथुरा। रिटायर्ड सैनिक पत्नी, बेटी के बाद बेटे को गोली मारने जा रहा था, इसके बाद जो हुआ वह शायद उसने भी नहीं सोचा होगा। घायल बेटी ने भाई की मौत को सामने देख पिता से उलझ गई और रिवाल्वर छुडा कर पिता पर फायर झौंक दिया।
गोली पूर्व सैनिक के सिर में लगी, मौके पर ही उसकी मौत हो गई। घटना देर रात करीब साढे दस बजे की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। तीनों खून से लथपथ घर के अंदर पडे हुए थे। पुलिस ने पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। स्थिति खराब देख कर पुलिस ने इंसानियत दिखाई और खुद प्रभारी निरीक्षक थाना नौहझील विनोद कुमार घायल बेटी और मां को लेकर नयति हास्पीटल पहुंचे जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। ग्रामीणों का कहना है कि पित ा को गोली मारने के बाद बेटी रिवाल्वर लेकर छत पर चढ गई, बमुश्किल उस पर काबू पाया जा सका।  
नौहझील थाना के अंतर्गत गांव मिट्ठौली में हुई इस घटना के बाद तनाव बना हुआ है।  
नौहझील का मिट्ठौली अलीगढ़ की सीमा से लगता है, गांव में काफी संख्या में फोर्स भी तैनात कर दिया है। साथ ही नयति अस्पताल में सभी प्रमुख पुलिस अधिकारी पहुंच गए हैं।
एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि रात करीब साढे दस बजे पूर्व सैनिक चैधरी चेतराम (45) का पत्नी से लेकर कोई विवाद हो गया। इसने इतना गंभीर रूप ले लिया कि चेतराम ने अपनी रिवाल्वर निकालकर पहले पत्नी राजकुमारी (38) को गोली मार दी। वो लहूलुहान होकर गिर पड़ी। इसके बाद उसने बेटी अलका (19) को भी गोली मार दी। वो भी घायल हो गई। इसके बाद वह अपने बेटे को गोली मारने जा रहा था, तभी उसकी बेटी ने उससे रिवॉल्वर छीनकर पिता को ही गोली मार दी। पिता की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई।
घर में गोलीबारी की सूचना पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई और गंभीर रूप से घायल मां और बेटी को इलाज के लिए नयति अस्पताल पहुंचाया। एसएसपी के अनुसार घर में झगड़ा होने की जानकारी नयति अस्पताल में इसकी बेटी अलका ने ही दी। बताया जाता है कि इसकी बेटी प्रयागराज में पढ़ती है, दो दिन पहले ही वह नौहझील आई थी। मामले की पडताल की जा रही है, इन्हें अच्छा इलाज मिले यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है।
हालांकि इससे पहले प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया था कि सूचना मिली थी कि बेटी ने लाइसेंसी पिस्टल से अपने मां और पिता को गोली मार दी और खुद को गोली मार ली है। मौके पर पहुंचे तो चेतराम उर्फ झगड़ू पुत्र जगराम, उसकी पत्नी राजकुमारी और बेटी अलका खून से लथपथ घर में पड़े थे।
 
मृतक के भाई ने बेटे, बेटी के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा
मृतक चेतराम के भाई ओमवीर ने थाना नौहझील में हत्या का मुकदमा पंजीकृत कराया है। रिपोर्ट में मृतक की घायल बेटी अल्का और छोटे बेटे अंकित को नामजद किया गया है।