हिन्दूस्तानी सट्टेबाज पाकिस्तान सुपर लीग में लगायेंगे दाव!

-न्यूजीलेंड विस इंडिया लीग में सट्टेबाज लगा चुके हैं करोड़ों रुपये
-मामा मसाले व वैद्य ने सटोरियों संग बैठक कर तैयार की भूमिका

एम डी खान

आगरा। देश का सबसे बड़ा दुश्मन देश पाकिस्तान सट्टेबाजों की पहली पसंद है। बीस फरवरी से पीएसएल (पाकिस्तान सुपर लीग)
शुरू होने वाली है। इसकी तैयारी में शहर के छोटे-बड़े सटोरी लगे हुए हैं। हाल में चल रही न्यूजीलेंड और इंडिया लीग में सटोरियों में अच्छी खासी कमाई की है। दो माह बाद आईपीएल है। बतादें कि पुलिस सख्ती के बाद जिले के टॉप बुकी हाल में अंडरग्राउंड हैं, तो उनके गुर्गो और अन्य सट्टेबाजों ने मोर्चा संभाल रखा है। वह इस बार आईपीएल और पीएसएल को खराब नहीं होने देना चाहते हैं। इसके लिए अभी से नेताओं के घर चक्कर लगाना शुरू कर दिया है। कुछेक छुट्ट भय्ये कुर्ताधारियों ने सट्टे की गद्दी चलवाने के ठेके तक ले लिये हैं।

लोहामंडी के नौबस्ता में निवासी नव...भार्गव पुलिस की पकड़ से बचा हुआ है। कैलाशपुरी निवासी छक्कू की गिरफ्तारी के दौरान वह अंडरग्राउंड हो गया था। उसने बचने के लिए चौकी इंचार्ज आलमगंज से सिफारिशें लगवार्इं। पुलिस उसे छोड़ दे ऐसा एक दलाल के जरिये मोटी रकम देना भी तय हुआ। इसी बीच चौकी इंचार्ज का तबादला हो गया। सूत्रों के मुताबिक सट्टेबाज ...भार्गव अब एलान कर रहा है कि उसे अब कोई नहीं पकड़ सकता। थाना स्तर पर पुलिस उससे रूबरू नहीं हैं, चौकी इंचार्ज ही था, जो उसके काले कारनामों के बारे में जानता था। बतादें कि सट्टेबाज का घर नामचीन जुआरी, मटका सट्टे की गद्दी चलाने वाले रमेश के आसपास रहता है। क्षेत्र में लोग कहते हैं कि रमेश को देख सट्टेबाज ने रातों-रात अमीर होने के सपने देखे। दिखावे को पुराना मसाले का काम था। वह मामा नाम से प्रसिद्ध है।  कई बार पुलिस ने इसके घर दबिश दी है। हाल में ही नव...। ने पश्चिमपुरी पुलिस चौकी के पास कोल्ड्ररिंग की एजेंसी ली है।

वर्ष 1980 से वैद्य की आड़ में चला रहा है बुक
थाना लोहामंडी चौराहा के पास होमोपैथिक वैद्य आगरा के सबसे पुराने सटोरियों में गिना जाता है। यह सफेदपोश पुलिस पकड़ से बचा हुआ है। इसकी देखरेख में अबतक 500 से अधिक युवा क्रिकैट मैच सट्टे के दलदल में फंस चुके हैं। वैद्य ने थाना हरीपर्वत क्षेत्र के शाह मार्केट के पीछे शानदार कोठी बनाई हुई है। तमाम खिलाड़ी तो ऐसे हैं, जो मरीज बनकर उसके पास पहुंचते हैं। होमोपैथिक एक ऐसी दवा है, जो हरेक मर्ज में काम करती है। पुलिस के पास भी इसकी सूचना है, लेकिन इस पर कभी हाथ नहीं डाला है। थाना स्तर से कई पुलिसकर्मी इससे जुड़े हुए हैं। जिन्हे खर्चे के लिए रुपये देता है।  पुलिस सूत्रों के मुताबिक मान लो कि वैद्य की बुक किसी रोज 20 लाख रुपये घाटे में गई और दूसरे दिन खिलाड़ियों को रुपया देना है। वह उसी रात में जो पुलिसकर्मी इससे जुड़े हैं, उनको एक लाख रुपये देकर गद्दी पर दबिश डलवा देता है, और पुलिस को मौके से कुछ मोबाइल आदि दे देता है। सटोरियों में हवा उड़ जाती है कि पुलिस ने छापा मार दिया। पुलिस सबकुछ ले गई। बस इसकी आड़ में वह बीस लाख की देनदारी से बच जाता है।  

हरीश टोनी के हैं शार्गिद
जगदीशपुरा के मारूति स्टैट निवासी हरीश उर्फ टोनी टोनी 70 सटोरियों की लिस्ट में नामजद है। इसे नाई की मंडी पुलिस ने दो माह पहले दबोचा था। उस दौरान एक सिफारिशी ने दरोगा के नाम पर एक लाख 60 हजार रुपये लिये थे। तोता के ताल कारबाइन गली में रहने वाले सटोरी ...सिंघल ने प्रताप नगर में 50 लाख का फ्लैट खरीदा है। मसाले वाले का परम मित्र रहा है। इनके ही गु्रप का आकाश चौपड़ा करके पूर्व में जेल जा चुका है। हाल में सिंघल घटिया निवासी रवि के साथ मिलकर बुक चला रहा है। हरीश टोनी का पुराना शिष्य पं...गोला सेक्टर-6 से अपनी बुक संचालित कर रहा है।