लुढकती हुई खेत में जा गिरी बरातियों की बस, दो दर्जन घायल

मथुरा। गोवर्धन थाना क्षेत्र के गांव नीमगांव में राधाकुंड बाईपास रिंग रोड पर देर रात्रि बरातियों से भरी बस मोड़ पर अनियन्त्रित होकर खेत में पलट गई। बस के पलटने से यात्रियों में चीख पुकार मच गई। घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां से कुछ घायलों को जिला अस्पताल में रेफर किया।
चैमुहां के मनी थोक निवासी रौहतान के पुत्र लोकेश की बरात महरौली गांव गई थी। रात को करीब 12 बजे अशोक ट्रेवल्स की बस बरातियों को लेकर चैमुहां के लिए रवाना हुई। राधाकुंड नीमगांव मोड़ पर तेज स्पीड में चालक ने बस को मोड़ने की कोशिश की। तीव्र मोड़घ् होने के कारण चालक बस पर नियंत्रण नहीं कर सका और करीब आठ फीट गहरी खाई में जाकर पलट गई। बस के पलटते ही चालक बस से कूद कर भाग गया। घायल बराती गिरधारी ने बताया कि बस में सभी बराती फंस गए। रात का समय था। ठंड भी पड़ रही थी। इसलिए कोई राहगीर भी सड़क पर नहीं था। बराती बचाव के लिए चीख पुकार कर रहे थे। किसी ने यूपी डायल 112 पर कॉल कर दुर्घटना की जानकारी पुलिस को दी। इधर, बस के पलटते ही आगे का शीशा टूट गया था। पीछे का शीशा भी बरातियों ने तोड़ दिया। इसमें होकर घायल बराती निकले। अधिकांश बराती खून से लथपथ थे। चोट लगने और ठंड के कारण उनकी हालत खराब हो गई। गोवर्धन पुलिस और चार पांच एंबुलेंस भी पहुंच गईं। घायलों को गोवर्धन और मथुरा के अस्पतालों में भिजवाया गया। घायल बनवारी ने बताया कि कुंवर सिंह परिचालक बस की साइड में बैठा हुआ था। उसका हाथ भी बस से बाहर निकल रहा था। उसका हाथ बस के नीचे दब गया और पच्चीस तीस बराती अंधेरे में उसके ऊपर होकर निकल गए थे। इससे कुंवर सिंह की हालत नाजुक है। इंस्पेक्टर गोवर्धन लोकेश भाटी ने बताया कि बरातियों की तरफ से अभी कोई घटना की तहरीर नहीं दी गई है।

ये हैं घायल हुए बराती
जय गिरधारी, गिरधारी, प्रमोद सेठ, रमेश, किशनी, हेमंत, घंसी, सीताराम, विष्णु, लक्ष्मण, तोता, हरीबाबू, मिश्री, बनवारी, लालसिंह , छत्रपाल, उधम सिंह, रेशम, हरिचंद, मुकेश कुमार सिंह, धर्मेंद्र, जगदीश, डालचंद, नेत्रपाल, राजेश, हुक्म सिंह, दिनेश, प्रताप, किशन चंद, गुड्डू, कान्हा, कैलाश मेंबर, टुंडा, हरचरण, निताई भगत समेत चार दर्जन बाराती घायल हो गए।