सुहागनगरी की फ़िज़ा बिगड़ने की फिर किया प्रयास, आधा दर्जन गाड़ियों में लगाई आग

आगरा/फ़िरोज़ाबाद। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में देश के अलग-अलग शहरों में शुक्रवार को उपद्रव के बाद शरारती तत्वों ने शनिवार को भी फ़िरोज़ाबाद शहर की फिजां बिगाडऩे का प्रयास किया। पैमेश्वर गेट पर स्थित  मैकेनिक की दुकान पर खड़े आधा दर्जन दोपहिया वाहनों को आग हवाले कर दिया गया। कोहरे का फायदा उठा कर शरारती तत्व हाईवे पर भी पहुंच गए पर पुलिस की सतर्कता के चलते अपने मनसूबो में कामयाब न हो सके और पुलिस ने तत्काल उनको खदेड़ दिया। 
इस बीच जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बराबर दौरा पर रहे ही, साथ ही एडीजी अजय आनंद ने कमिश्नर अनिल कुमार और आइजी ए सतीश गणेश के साथ दोपहर में शहर का भ्रमण किया।

शुक्रवार को उपद्रवियों ने जमकर कटा था बवाल 
कल जुमे की नमाज के बाद जुलूस में शामिल उपद्रवियों ने जमकर  बवाल कटा था। पुलिस का एक वहां समेत 6  वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। इतना ही नहीं इंस्पेक्टर नारखी की पिस्टल भी लूट ली थी। लगभग पांच घंटे तक चले इस बवाल में एक युवक की मौत हो गई थी। दो दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए थे। 

शनिवार की सुबह लगभग साढ़े नौ बजे जाटवपुर चौराहे के पास सैकड़ों की संख्या में भीड़ हाईवे पर जुटने शुरू होने लगी। जैसे ही भीड़ जुटने की खबर प्रशासन को लगी  डीएम और एसएसपी फोर्स के साथ पहुंचे गए और भीड़ को वह से खदेड़ दिया गया । दो बजे के लगभग उपद्रवियों ने दक्षिण थाना क्षेत्र के पैमेश्वर गेट स्थित मैकेनिक की दुकान के बाहर आधा दर्जन गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। आनन-फानन में पहुंची फोर्स ने आग पर काबू पाया। 

13 बवालियों को जेल, 10  पर  मुकदमे

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल ने बताया कि हालात काबू में हैं। शुक्रवार को हुए बवाल  में 13 बवालियों को जेल भेज दिया गया है। शहर के दक्षिण, रामगढ़ और रसूलपुर थानों में हजारों बवालियों के खिलाफ 10 मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं। बवालियों को चिन्हित कर कार्रवाई की जा रही है।