आगरा में नागरिकता संशोधन विधेयक का काग्रेस ने किया विरोध

आगरा। बुधवार को शहर कांग्रेस कमेटी द्वारा मोदी सरकार द्वारा जाति और धर्म के नाम पर लाये जा रहे नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में कांग्रेस हाईकमान के निर्देश पर वरिष्ठ कांग्रेस जन संघर्ष समिति आगरा ने शहर कांग्रेस कार्यालय से जुलूस निकाला और कलक्ट्रेट के गेट पर नारेबाजी कर धरना प्रदर्शन और नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां जलाकर अपना आक्रोश प्रकट किया ।
इस अवसर पर संघर्ष समिति के संरक्षक हाजी जमीलुद्दीन कुरैशी ने कहा कि मोदी सरकार देश को जाति और धर्म के नाम पर बांटकर बाबा साहब के संविधान का अपमान कर रही है जो हम लोग बर्दाश्त नहीं करेंगे ।
इस अवसर पर मीडिया प्रभारी नदीम नूर ने कहा कि इस विधेयक पर तो अमेरिका ने भी  कड़ी टिप्पणी की है केंद्र सरकार सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए देश को एक बार फिर हिन्दू मुसलमान में बांटना चाहती है । बीजेपी सरकार को यदि किसी को निकालना है तो वो जनता में बार बार परोसा जाने वाला उनका झूठ है उसे देश से बाहर निकालें।
इस अवसर पर समिति के जिलाध्यक्ष पण्डित संजय शर्मा बित्थरिया और फायर ब्रांड नेता भानु भदौरिया ने कहा कि इस समय देश में झूठ और लूट की राजनीति चल रही है।
देश में आर्थिक मंदी और मंहगाई ने लोगों की कमर तोड़ रखी है महिलाएं और छोटी छोटी बच्चियां आज देश और प्रदेश में सुरक्षित नहीं है अपराधी बेलगाम हो चुके हैं उस ओर सरकार का ध्यान नहीं है ।
कांग्रेस नेता यशपाल राणा डॉ एस पी माथुर,इरफान कुरैशी(प्रभारी) मोहसिन काजी, रेखा मल्होत्रा, प्रभलीन कौर नदीम ठेकेदार शालू गौतम, मीना वर्मा ने कहा कि इस विधेयक के बहाने देश में एक बार फिर विघटनकारी शक्तियां सक्रिय हो गई हैं देश में बाबा भीमरावराव  अम्बेडकर का संविधान चलेगा न कि देश के लोगों में जहर घोलने वाला आर एस एस का संविधान हम लोग किसी भी कीमत पर लागू नहीं होने देंगे ।
समिति के संरक्षक हाजी जमीलुद्दीन कुरैशी, मीडिया प्रभारी नदीम नूर वरिष्ठ नेता भानु भदौरिया, जिलाध्यक्ष पण्डित संजय शर्मा बित्थरिया  ने कहा कि समाज मे जहर घोलने वाले इस बिल का वरिष्ठ कांग्रेस जन संघर्ष समिति आगरा सड़कों पर उतरकर विरोध जारी रखेगी और इस विधेयक के विरोध में बड़ी से बड़ी कुबार्नी देने के लिए तैयार रहेगी ।
प्रदर्शन में सर्वश्री-हाजी जमीलुद्दीन कुरैशी, भानु भदौरिया पण्डित संजय शर्मा, यशपाल राणा, नदीम नूर,इरफान कुरैशी, मोहसिन काजी, डॉ एस पी माथुर, रेखा मल्होत्रा प्रभलीन कौर, शालू गौतम, मीना वर्मा, नदीम ठेकेदार, अजय उपाध्याय, शैलेन्द्र चौधरी, विपिन सिकरवार, अनुज प्रताप सिंह, मनीष जुम्मानी, मो अखलाक, मो. गुफरान, अंसार भाई, मो इमलाख, आदिल भाई, वरुण कुमार, शानू कुरैशी,करन कुमार, सुमित कुमार, मो.सगीर, मो जैद, मो फरदीन, मो फुरकान आदि रहे।