आगरा में झोलाछाप ने ली तीन माह की मासूम की जान

बरहन। कस्बा बरहन में झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही के चलते तीन माह की मासूम की जान चली गई।परिजनों ने सर्दी जुकाम की दवाई मासूम को झोलाछाप से दिलायी।दवाई दिलाने के कुछ मिनटें बीतने बाद चली गयी मासूम की जान।
 
मंगलवार दोपहर जितेंद्र कुमार पुत्र अर्जुन सिंह निवासी जनपद हाथरस के गाँव चौवारा से अपनी बच्ची काजल उम्र तीन माह को कस्बा बरहन में स्थित बरहन पोली क्लीनिक के नाम से चला रहे झोलाछाप की दुकान पर सर्दी जुकाम की दवाई दिलाने के लिये आये थे।दवाई लेने के कुछ मिनटों के बाद मासूम बच्ची की धड़कनें रूक गयीं।झोलाछाप डॉक्टर को मासूम की मौत होने की जानकरी होने पर अपनी बला टालने के लिये अपने क्लिनिक को बदं करके फरार हो गया।हालांकि बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने किसी प्रकार का कहीं भी कोई प्रार्थना पत्र नहीं दिया है।