विवाहिता को छत से फेंका

फिरोजाबाद। थाना रामगढ़ क्षेत्र मौहल्ला उर्दू नगर दीदामई स्थित मायके में रह रही एक विवाहिता को उसके ही पति ने छत से फेंक दिया। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी। मायका पक्ष ने थाने में ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। 
थाना रामगढ़ क्षेत्र मौहल्ला उर्दू नगर दीदामई निवासी शहरवानो पत्नी नसरीन खां ने थाने में दी गई तहरीर में आरोप लगाया है। उसने अपनी बेटी सोनम का निकाह 12 जनवरी 2019 को अकबर पुत्र खालिद निवासी मौहल्ला इस्लाम नगर, जलेसर जनपद एटा के साथ किया था।

शहरबानों का आरोप है कि दिये गये दान दहेज से सोनम का पति अकबर, ससुर खालिद, सास सावरी, जेठ सरवर, जिठानी नजराना, ननद कौशल व तरन्नुम पुत्र खालिद, देवर मकसद खुश नहीं थे। आरोप है दान दहेज में दो लाख रूपये की अतिरिक्त मांग करते थे। मांग पूरी न होने पर सोनम का शारीरिक शोषण व मानसिक उत्पीड़न करते थे। आये दिन मारपीट करते थे। जिसके कारण वह पुत्री सोनम को एक सप्ताह अपने घर ले आयी थी। 13 अक्टूबर 2019 को सोनम का पति अकबर फिरोजाबाद घर आया। उसे कभी परेशान न करने की कहकर ले गया। आरोप है कि 14 अक्टूबर 2019 को सोनम के ससुराल पक्ष ने एक मत होकर उसे मारा पीटा और छत से फेंक दिया। जिससे वह रूप से गंभीर घायल हो गया। पड़ोसियों ने सूचना दी कि पुत्री को छत से फेंक दिया है, इलाज को आगरा ले गये हैं, तब मायका पक्ष से सभी आगरा पहुंचे। वहां से दिल्ली सफदरगंज हास्पीटल भेज दिया। जहां उनकी पुत्री की मौत हो गयी। मायका पक्ष के लोग शव को मायके ले आये और दहेज लोभियों के विरूद्ध थाने में तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।