मौत के खेल रोकने को सौंपा जिलाधिकारी को ज्ञापन

आगरा। शहर में चल रहे मौत के खेल (टिंचर की अवैध बिक्री) को रोकने के लिए नामनेर बाजार कमेटी ने ज्ञापन आगरा के जिलाधिकारी एन.जी.रवि कुमार को दिया।
        ज्ञापन के संदर्भ में नामनेर बाजार कमेटी के अध्यक्ष बृजेश पंडित ने बताया कि ज्ञापन में टिंचर की बिक्री रोकने के साथ-साथ ड्रग विभाग एवं जीएसटी विभाग की लापरवाही को भी रेखांकित किया है। ड्रग विभाग में जहाँ आम आदमी के लिए लाइसेंस बनवाने के लिए हजारों नियम कायदे कानून होते हैं परंतु इन दुकानों को नियमों को ताक पर रखकर लाइसेंस प्रदान किया जाता है। निश्चित रूप से ये सुविधा कदाचार की श्रेणी में आती है।
जिलाधिकारी को लाइसेंस देने वाले अधिकारी के कदाचार की जांच के लिए निवेदन किया है। संबंधित अधिकारी के कदाचार की जांच कर विधि सम्मत कार्यवाही की जानी चाहिए। ड्रग विभाग के अधिकारी आये दिन मेडिकल स्टोर्स की जांच करते हैं जिसमें फ्रिज, एक्सपायरी, फार्मासिस्ट आदि नियमों का हवाला दे कर प्रताड़ित किया जाता है। क्या इन अधिकारियों ने कभी इन दुकानों की जांच में इन मानकों को देखा है?
क्या इन दुकानों में टिंचर के और कोई दवाई देखी है?
टिंचर सिर्फ R.M.P. डॉ के प्रेस्क्रिप्शन पर ही बेची जा सकती है।कभी देखा है कि कौन कौन डॉ इसको अपने पर्चे पर लिखता है?
निश्चित रूप से ड्रग विभाग की ये लापरवाही सवालों के घेरे में है,और इस मौत के खेल को ड्रग विभाग का संरक्षण प्राप्त है। ये प्रत्यक्ष रूप से कदाचार,भ्रष्टाचार है जिस की जांच कर संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध होनी चाहिए।
फेडरेशन ऑफ आल इंडिया व्यापार मंडल के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह सोबती ने बताया कि ठीक इसी तरह एक और विभाग GST जो आये दिन प्रतिष्ठित संस्थानों पर छापा मार सर्वे किया जाता है। परंतु आज़ाद हिंदुस्तान के इतिहास में आज तक इन दुकानों पर कभी सर्वे नहीं किया गया है। अब सवाल उठता है कि कहां है इनका परचेज रजिस्टर ?
कहाँ से आता है ये मौत का सामान ?
कहाँ है इनका सेल रजिस्टर ?
कहाँ है इनका रिटर्न ?
कहाँ जमा होता है इसका टेक्स?
उन्होंने बताया कि  जिलाधिकारी ने गंभीरता से सुनकर प्रभावी कार्यवाही का आश्वासन दिया है।
ज्ञापन देने में फेडरेशन ऑफ आल इंडिया व्यापार मंडल के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह सोबती, महामंत्री हरेश अग्रवाल, नामनेर बाजार कमेटी के अध्यक्ष बृजेश पंडित रहे।