पुलिस पूछताछ में अधेड़ की मौत

- जमीन को लेकर था भाईयों में चल रहा था विवाद
- पिता चार बेटों से दो भाईयों के नाम की थी वसीहत 

 

अग्र भारत संवाददाता
 


आगरा। दो भाइयों के प्रॉपर्टी के विवाद में तहरीर पर पुलिस एक को उठाकर चौकी ले गई। वहां पुलिस कस्टडी में उसकी मौत हो गई। मौत होने की वजह हार्ट अटैक बताई जा रही है, लेकिन परिजन मारपीट के दौरान हत्या का आरोप लगा रहे हैं। अधिकारी मामले में जांच की बात कर रहे हैं।

राकेश (50 साल) पुत्र काली चरण निवासी नामनेर का अपने भाईयों से पिता की 80 गज जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। कालीचरण के भीमसैन, ओमी, राकेश और दिनेश चार बेटे हैं। दिनेश की पूर्व में मौत हो चुकी है। भीमसैन अपनी ससुराल रहने लगा। पिता ने जमीन की वसीहत ओमी और राकेश के नाम कर दी। लोगों ने बताया कि एक साल पहले भीमसैन ससुराल से लौट आया और पिता की जमीन में हिस्सा मांगने लगा। भीमसेन ने ओमी को अपने पक्ष में कर लिया। राकेश का दोनों से विवाद हो गया। मृतक की बेटी का कहना है कि पुलिस मामले में एक जनवरी को मृतक से पूछताछ के लिए ले गई और पूछताछ के बाद छोड़ दिया। 

 

एक बार फिर ले गई पुलिस
बुधवार को सुबह 10 बजे डायल 100  पुलिस राकेश को पूछताछ के लिए कैंट चौकी ले गई। यहां उसकी अचानक तबियत बिगड़ गई। पुलिस उसे नामनेर स्थित अग्रवाल हॉस्पीटल ले गई। वहां हालत गम्भीर देख डाक्टरों ने मना कर दिया। उसके बाद उसे पुष्पांजली ले गये वहां से उसे एसएन इंमरजेंसी के लिए रेफर कर दिया। एसएन में डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मौके पर पहुंची मृतक की बेटी ने बताया कि 5 मिनट बाद जब वह कैंट चौकी पहुंची तो राकेश जमीन गिरे हुए थे। पुलिस वाले उनके ऊपर पानी डाल रहे थे। बेटी का आरोप है कि पुलिस ने राकेश के साथ हाथापाई और अभद्रता की है। पुलिस का कहना है कि चीता पुलिस उसे लेकर आ रही थी तभी रास्ते में उसकी तबीयत खराब हो गई। जिसे देख चीता पुलिस ने रास्ते में ही राकेश को पानी पिलाया और चौकी ले आयी जहां दिल का दौरा पड़ने से राकेश की मौत हो गई।