बरेली: घर के भेदिए ने किया कांड, ढाई करोड़ की लूट का खुलासा

बरेली। योगी सरकार मे बढ़ रहे अपराध पर पुलिस सरकार दोनों जनता और विपक्ष के निशाने पर है। लेकिन इसी बीच बरेली शहर से एक राहत भरी खबर यह आई है कि पुलिस ने फतेहगंज पूर्वी मे सर्राफा के साथ 2.5 करोड़ की लूट का खुलासा कर दिया है। इस सम्बन्ध में पुलिस ने 3 बदमाश और दो सर्राफा व्यापारियों को गिरफ्तार किया है। वहीं मुख्यमंत्री योगी ने पुलिस को उसे गुडवर्क के लिए एक लाख रुपए के पुरस्कार देने की घोषणा दी है।

लूट के बाद पुलिस की होने लगी थी आलोचना

बरेली मे कुछ समय बड़ रहे अपराध पर पुलिस जनता के निशाने पर थी लेकिन बरेली पुलिस ने फतेहगंज पूर्वी मे सर्राफा प्रदीप अग्रवाल के परिवार के साथ 3 जून को हुई 2.5 करोड़ का खुलासा कर दिया है। इस सम्बन्ध में पुलिस ने 3 शातिर बदमाशों के साथ 2 सर्राफा व्यापारियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बदमाशों के पास से लूटा गया 8 किलो सोना के साथ करीब 5.5 लाख नकद के साथ लूट की घटना को अंजाम देने में प्रयुक्त हुए आई टेन कार को बरामद किया है।

कैसे पहुंची पुलिस बदमाशों तक?

सर्राफा के साथ हुई लूट को खोलने के लिए पुलिस की कई टीम के साथ एसटीएफ को लगाया गया था। पुलिस ने मामले के खुलासा के लिए करीब पचास लोगों से पूछताछ की थी। साथ ही सर्राफा व्यापारी के यहां से नौकरी छोड़ चुके लोगों की जानकारी एकत्र की। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि हाल में मनोज ड्राइवर और शत्रुघ्न ने प्रदीप के यहाँ से नौकरी छोड़ी है। जब पुलिस ने इन दोनों की तलाश शुरू की तो यह दोनों अपने घर पर नहीं पाए गए | पुलिस ने सर्विलांस की मदद से घटना के दिन इन दोनों की लोकेशन की जाँच की तो दोनों की लोकेशन फतेहगंज पूर्वी पाई गई। इसी आधार पर पुलिस ने इन दोनों पर दबाव बनाया और गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने घटना में शामिल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बदमाशों से 6 किलो 200 ग्राम सोना, सोने के गले हुए टुकड़े जिसका वजन लगभग 1 किलो है, साथ ही बेचे गए दो बिस्किट के साथ पांच लाख 52 हजार रुपए बरामद किये हैं।