बैंक मैनेजर ने की आत्महत्या, पिता ने लगाये बैंक अधिकारियों पर ये गंभीर आरोप...

-पिता बोले बेटे को अधिकारियो ने परेशान कर रखा था
मथुरा। भारतीय स्टेट बैंक के ब्रांच मैनेजर राकेश खदेरिया के आत्महत्या मामले में परिजनों ने अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मृतक के पिता गोपाल चंद ने बताया कि उनका बेटा काफी परेशान था। वो अधिकारियों द्वारा परेशान करने की बात बताता रहता था। 
उन्होंने कहा कि करीब आठ महीने पहले वो पत्नी और बड़े बेटे के साथ आगरा में बैंक अफसरों के पास भी गए थे। वहां पर हाथ-पैर जोड़कर माफी तक मांगी, पर कोई भी अफसर पिघला नहीं। इन अफसरों ने दो टूक कह दिया कि काम करो या फिर नौकरी छोड़ दो। लगातार परेशानी के चलते ही उनके बेटे ने आत्महत्या का कदम उठाया है।  

बता दें कि राकेश खदेरिया ने शुक्रवार को अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें लिखा है, श्मैं बैंक के काम का दबाव महसूस कर रहा हूं। मैं काम को संभाल नहीं पा रहा हूं। कृपया सभी लोग मुझे माफ कर दें। किसी को परेशान न किया जाए।
 

घटना से हर कोई हैरान
ब्रांच मैनेजर की छह साल की बेटी आराध्या को यह पता ही नहीं है कि अब इस दुनिया में उसके पापा नहीं है। जबकि पत्नी सीमा, मृतक के मां-पिता और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। किराए पर राधा वैली के दिव्या डी अपार्टमेंट में रह रहे बैंक मैनेजर की सुसाइड से आसपास के लोग भी काफी हैरान हैं।
 
पुलिस ने सील किया कमरा 

बैंक मैनेजर के सुसाइड की सूचना पर पहुंची हाईवे पुलिस ने पूरी जानकारी जुटाई। फारेंसिक टीम ने पूरे तथ्य जुटाए। हाईवे पुलिस ने फ्लैट 201 के कमरे को सील कर दिया है। प्रभारी निरीक्षक अनूप सरोज ने बताया कि काम के बोझ से परेशान होकर मैनेजर ने सुइसाइड किया है। फिलहाल कुछ चीजें सील की गई हैं।