पहले सांड और अब पुलिस कर रही परेशान, क्या है मामला

-स्कूलों गोवंश बंद करने वालो ग्रामीणों को भेजे जा रहे वारंट
-गांव कारब के 20 ग्रामीणों के भी नाम हैं शामिल 

 

मथुरा। किसानों के परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही  हैं। अभी तक आवारा गोवंश  से परेशान चल रहे किसानों को अब पुलिस परेशान कर रही है। जिन गांवों में किसानों ने खेतों से रौंद कर गोवंश  को सरकारी स्कूलों में बंद किया था उन्हें नामजद किया गया है। पुलिस लगातार उन लोगों के घरों पर दस्तक दे रही है। राया ब्लाक के गांव कारब में ऐसे बीस लोगों के नाम प्रकाषश में आ चुके हैं। वहीं  गोवर्धन के जिखनगांव के प्राथमिक विद्यालय में ग्रामीणों द्वारा गौवंशों को बंद करना भारी पड़ गया। तहसीलदार द्वारा दर्जनों अज्ञात किसानों के खिलाफ इस प्रकरण में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
जनपद में जगह-जगह किसानों के खेतों में खड़ी फसल को आवारा गौवंश नुकसान पहुंचा रहा है। जबकि शासन द्वारा इन गौवंशों को पकड़कर गौशालाओं को भेजने के लिए 10 जनवरी का वक्त दिया गया था। इसका कुछ खास असर नहीं हुआ है। आवारा गौवंश से अब भी किसान परेशान हैं। गोवर्धन के गांव जिखनगांव में ग्रामीणों के द्वारा खेतों को नुकसान कर रहे आवारा गौवंशों को पकड़कर गांव के प्राथमिक विद्यालय में बंद कर दिया था। जिससे बच्चों की पढाई बाधित हुई। प्रशासन द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद इन गौवंशों को निकालकर गौशाला भेजा गया। इस मामले में गोवर्धन तहसीलदार द्वारा गौवंश को बंद करने वाले एक दर्जन से अधिक लोगों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है।