सपा के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामजीलाल सुमन के नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रर्दश

हाथरस। कलेक्ट्री परिसर पर सुबह से ही सपा कार्यकर्ताओं व गुस्साएं किसानों का जमावडा लगा रहा। किसानों ने बरेली मथुरा राज मार्ग पर लगभग घण्टे भर तक जाम लगाकर प्रर्दशन किया। यही नहीं किसानों के प्रर्दशन के चलते प्रशासन में खलबली बनी रही। जिलाधिकारी के सात दिन के अंदर समस्या का समाधान होने के आवश्वासन के बाद सपा कार्यकर्ता व किसान शांत हुए। आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व केन्द्रीय मंत्री रामजीलाल सुमन के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय पर किसानों व समाजवादी पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रर्दशन किया। आपको बता दें कि रामजीलाल सुमन ने पूरे जनपद में आवारा पशुओं की समस्या को लेकर भ्रमण किया था भ्रमण के बाद सपा नेता ने प्रेस वार्ता कर आज आज जिलाधिकारी कार्यालय पर विशाल धरना प्रर्दशन की चेतावनी दी थी इसी चेतावनी के मद्देनजर प्रशासन आज सुबह से ही हरकत में दिखाई दिया।

 

सुबह से ही बडी संख्या में पुलिस बल बरेली मथुरा राज मार्ग के चप्पे चप्पे पर तैनात था। वरिष्ठ प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भी सुबह से ही धरना प्रर्दशन के मद्देनजर मुस्तेद दिखाई दिये। हतीसा के पास बने पुल के नीचे किसान व सपा कार्यकर्ता सुबह से ही इकट्ठा होने लगे।दोपहर साढे बारह बजे के करीब सभी किसान व कार्यकर्ता जुलूस के रूप में एकत्रित होकर रामजीलाल सुमन के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय पहुॅचे व तीन बजे तक राजमार्ग पर जाम लगा दिया। अपने सम्बोधन में राजीलाल सुमन ने कहा कि आवारा पशुओं की बजह से किसानों की फसलें बर्बाद हो रही हैं बेसहारा पशुओं के लिए गौशाला खुलवाई जाएं व जो गौशालाएं हैं उनमें चारे की उपलब्धता सुनिश्चत की जाए। अन्त में जिलाधिकारी रमाशंकर मोर्य ने यह आश्वासन दिया कि एक हफ्ते में इस समस्या का कोई न काई समाधान निकाल लिया जाएगा। जिसके बाद जाम खुल सका।

इस धरना प्रदशन के दौरान प्रमुख रूप से सपा जिलाध्यक्ष ओमवती बुआजी, विधान परिषद सदस्य जसवंत सिंह, पूर्व विधायक यशपाल सिंह चौहान, पूर्व विधायक देवेन्द्र अग्रवाल, वरिष्ठ सपा नेता मूल चन्द्र निम, महेन्द्र सिंह सौलंकी, रामनरायन काके, मनोज यादव, भोला यादव, हाजी फजुलर्ररहमान, श्याम प्रधान, बबलू यादव, तेजेन्द्र निम, रोहिताश यादव, मंजूर अहमद अब्बासी, चौधरी भाजुद्दीन, रंजनीश कुशवाह, विधान सभा अध्यक्ष मंजीत चौधरी, विधानसभा अध्यक्ष सिकन्द्राराऊ संजीव यादव, विवेक यादव, अनूप यादव आदि के अलावा समाजवादी पार्टी के सभी पदाधिकारी कार्यकर्ता, क्षेत्र पंचायत सदस्य के अलावा सैंकडों किसान मौजूद थे।