एक करोड से अधिक घोटाले का आरोपी बैंक प्रबंधक गिरफ्तार

दस हजार का ईनामी तीन साल से चल रहा था फरार 


फिरोजाबाद। एक करोड से अधिक की रकम हडपकर तीन साल से फरार चल रहे बैंक मैनेजर को क्राइम ब्रांच टीम व थाना उत्तर पुलिस ने शनिवार को रोडवेज बस स्टेण्ड के समीप से गिरफ्तार किया है। पकडे गये बैंक मैनेजर पर दस हजार का ईनाम भी घोषित था।
का्रइम ब्रांच निरीक्षक प्रवेश कुमार व लाकेश कुमार भाटी शनिवार को गस्त पर थे तभी उन्हे मुखविर द्वारा सूचना मिली कि वर्ष 2015 में बैंक घोटाले का फरार दस हजार का ईनामी अपराधी दिनेश कुमार फिरोजाबाद रोडवेज बस स्टेण्ड के समीप कही जाने की फिराक में खडा है। क्राइम ब्रांच निरीक्षकों ने थाना प्रभारी उत्तर रविन्द्र कुमार दुबे व पुलिस बल के साथ बस स्टेण्ड की घेराबंदी करते हुये फरार अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने फरार अपराधी का नाम दिनेश ध्यानी पुत्र मोहन लाल ध्यानी निवासी लाडपुर थाना रायपुर जिला देहरादून उत्तराखण्ड बताया है। बरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने जानकारी देते हुये बताया कि पकडा गये अभियुक्त दिनेश पर दस हजार का ईनाम घोषित था। यह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था। अभियुक्त दिनेश वर्ष 2015 में फिरोजाबाद में एसडीएफसी बैंक मैनेजर था। पद पर रहते हुये दिनेश ने अपने दो साथी लोकेन्द्र प्रताप व नवल कुमार पुत्रगण दिनेश बाबू निवासी कटैना हर्षा थाना जसराना जिला फिरोजाबाद के साथ मिलकर फर्जी आई0 डी0 से कई फर्जी बैंक खाते खोलकर एक करोड अठ्ठाईस लाख, तैतीस हजार आठ सौ पांच रूपये की धोखाधडी की थी। इसके खिलाफ वर्ष 2015 में ही 11 मुकदमे थना उत्तर में दर्ज किये गये थे। पुलिस ने इसके दोनों सहयोगियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था लेकिन बैंक प्रबंधक दिनेश तभी से फरार चल रहा था। जिसे शनिवार को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।