उपयोग की गई बिजली से ज्यादा रीडिंग दिखा रहे ’मीटर’

उपयोग की गई बिजली से ज्यादा रीडिंग दिखा रहे ’मीटर’
-ब्लैक लिस्टेड कंपनियों से बिजली मीटर खरीद रही है सरकार
-मीटरों के तेज चलने से जनता है परेशान
-इस पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा बोले
-सभापति रमेश यादव ने प्रकरण संदर्भ समिति को सौंपने के निर्देश दिए
मथुरा। घर में चार एलइडी लगी हैं, दो पंखे हैं लेकिन बिजली का मीटर इतनी तेजी से घूम रहा है कि सिर कचकरा जाये। इस तरह की शिकायत शहर से गांव तक लोग कर रहे हैं। अब यह मामला विधान सभा में भी उठ गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए सभापित रमेश यादव ने प्रकरण को संदर्भ समिति को सौंपने के निर्देख्श दिए हैं। 
 घरों में लगाए जा रहे बिजली मीटरों के तेज चलने का मामला विधान परिषद तक पहुंच गया है।  विधान परिषद में यह मामला गूंजा। सपा के शतरुद्र प्रकाश ने प्रश्न प्रहर में मामला उठाया उन्होंने कहा कि वाराणसी समेत पूरे प्रदेश में उपभोक्ता परेशान हैं। 2012-13 में जिन कंपनियों को ब्लैक लिस्ट किया गया था, विद्युत वितरण निगम उन्हीं कंपनियों से मीटर खरीद रहा है। आईआईटी कानपुर ने भी जांच में कुछ कंपनियों को दोषी ठहराया था, लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।
इस सवाल पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि प्रयोगशालाओं में टेस्ट के बाद ही मीटर लगाए जाते हैं। इसके बाद भी कहीं कोई दिक्कत आ रही है, तो उसकी जांच कराई जा सकती है। आईआईटी कानपुर की जांच रिपोर्ट के बाबत भी उन्होंने बाद में अवगत कराने के लिए कहा। इस पर एक बार फिर शतरुद्र प्रकाश ने कहा कि मामला प्रश्न संदर्भ समिति को सौंप दिया जाए। नेता सदन डा. दिनेश शर्मा और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इस पर एतराज किया। अंत में सभापति रमेश यादव ने प्रकरण संदर्भ समिति को सौंपने के निर्देश दिए।
 
फोटो-30यूपीएच मथुरा01
चित्र परिचय-मथुरा जनपद में लगाये गये नये विद्युत मीटर।