बरसात का कहर: सड़कें टूटी, मकान धंसे, वाहन पलटे, शहर बना टापू

बरसात का कहर: सड़कें टूटी, मकान धंसे, वाहन पलटे, शहर बना टापू
-विजोली गांव में मकान गिरा, 6 लोग दबे
-राया के गांव गढ़ी रूपा में गिरे कई मकान, लोगों ने लगाया जाम
-बल्देव, फरह, छाता, गोवर्धन क्षेत्र में भी भारी बरसात 
मथुरा। अषाढ़मास की आखिरी बरसात ने जनजीवन को पूरी तरह अस्तव्यस्त कर दिया है। नालों की सफाई नहीं होने से शहर से देहात तक हाहाकार मचा है।  मांट और नौहझील क्षेत्र में लगातार हो रही बरसात अब कहर बनकर टूट रही है। नीचे इलाको में बाढ़ जैसे हालात हो गए है। बाजना खानपुर रोड पर सड़क कटने से एक ट्रक उसमें समा गया। ट्रक में सवार लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया। बाजना नाला ओवरफ्लो होने से बाजना,जरैलिया में घरों में बरसात का पानी घुस गया। सुरीर कस्बे में कई मकानों में बरसात का पानी घुस गया। मांट के विजोली गांव में मकान गिरने से 6 लोग दब गए ग्रामीणों ने सभी को सुरक्षित निकाल लिया है।
राया में राया बल्देव रोड़ पर स्थित गढ़ी रूप में कई मकान धराशाई हो गये, यहां पूरा गांव ही पानी से घिरा हुआ है। लोगों के निकलने के लिए कोई रास्ता नहीं बचा है। गांव  बल्देव राया रोड से करीब 400 मीटर की दूरी पर खेतों के बीच निचान पर बसा है, जिससे हर साल गांव जल भराव की चपेट में आ जाता है। पानी की निकासी के लिए एक नाला है जिस की इस बार सफाई नहीं हुई है। हालत इनते गंभीर हैं कि पानी पूरे गांव में फैल गया है। नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार को सुबह राया बल्देव रोड पर हनुमान मंदिर के पास पेड़ काट कर डाल दिये जिससे वाहनों का आवागमन रुक गया। मौके पर पहुंचे सीओ महावन ने ग्रामीणों को समझा बुझा कर जाम खुलवा दिया था, राया मथुरा रोड पर गौसना टीले के पास सड़क पर होकर पानी बह रहा है। सड़क टूट कर गड्ढों में समा गई है। 
 
टापू बना शहर, घरों में घुसा पानी, हाइवे पर लगी वाहनों की कतार
 गुरू पूर्णिमा पर्व पर इंद्र देव की मेहरबानी राहत के साथ आफत भी लेकर आई।  ये सीजन की सबसे अधिक बरसात है। जलभराव का हाल ये है कि शहर जगह-जगह टापू में बदल गया। प्रमुख मार्गो पर जलभराव के चलते आवागमन ठप्प और हाइवे पर वाहनों की लंबी कतार लगी है।  निगम के कार्यो की कलई खुलकर सामने आ गई। बाहरी कालोनियों से शहर में प्रवेश के प्रमुख मार्ग भूतेश्वर, नया बस स्टैंड और पुराने बस स्टैंड सहित बीएसए कालेज रोड, कृष्णा नगर, होली गेट, डीगगेट, छत्ता बाजार, मथुरा आगरा रोड सहित अधिकांश मार्ग और पॉश कालोनियों में जल भर गया। लोगों के घरों मकानों में पानी भर जाने से खासा नुकसान हुआ।
शहर के मार्गो पर जाम लगने के बाद वाहन हाइवे की ओर मुड़ गए ऐसे में हाइवे पर भी वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसके अलावा गोवर्धन, कोसीकलां, छाता, नौहझील, बलदेव, राया, फरह आदि क्षेत्रों में खेतों में पानी भरने लगा। वहीं रास्तों में ज गह जगह जल भराव होने से राहगीर परेशान रहे।
 
स्कूल, कार्यालयों में भरा पानी
जिले के अधिकांश कार्यालयों में जल भराव देखने को मिला। जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय, मंडी समिति कार्यालयों में चारों तरफ पानी भरा हुआ था। शहर के कई कालेज व स्कूल भी जल मग्न दिखाई दिए। यमुना का जलस्तर भी बढ़ने लगा है।
 
समसपुर में वृद्धा की मौत
मथुरा के समसपुर में मकान की दीवार गिरने से 60 वर्षीय अनारदेवी की मौत हो गई। जिले में कहीं सड़क धंस गई तो कहीं मकान गिर गए। गोवर्धन में परिक्रमा मार्ग क्षेत्र में भी जलभराव से भक्तों को परेशानी हुई। 
 
हाइवे पर लगा लम्बा जाम, घंटों फंसे रहे वहान
गुरूपूर्णिमा और बरसात ने यातायात व्यवस्था चरमरा गई। हाइवे पर लम्बा जाम लगा रहा। पुलिसकर्मी जाम को खुलवाने और वाहनों को निकलवाने के लिए मशक्कत करते रहे। दिन भर हाइर्व पर गोवर्धन चौराहा और मंडी चौराहे के बीच जाम से यातायात व्यवस्था ध्वस्त रही। शहर के अंदर जगह जगह जलभराव हो जाने ेसे लोगों ने हाइवे होकर जाने का रास्ता चुना लेकिन यहां वह जाम में फंस गये। 
 
राया में मकान गिरा, बच्ची की मौत
राया में नागर रोड पर एक मकान गिर गया, जिसमें दबकर एक बच्ची की मौत हो गई, जबकि एक बच्ची की हालत गंभीर है उसे उचार के लिए निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। मकान में चार लोग दब गये थे जिनमें से तीन को स्थानीय लोगों ने किसी तरह निकाल लिया। 
 
बारिश के चलते घंटों लेट चल रही हैं ट्रेनें
-बारिश की वजह से 3 से 4 घंटे लेट चल रही है ट्रेनें,
-कई जगह रेवले के अंडर पास मैं भरा पानी,
-आगरा मथुरा, आगरा धौलपुर रूट पर है सबसे ज्यादा असर
-कर्नाटका एक्सप्रेस, उज्जैनी एक्सप्रे, गौंडवाना एक्सप्रेस, पंजाब कोटा एक्सप्रेस, सचखण्ड एक्सप्रेस झेलम एक्सप्रेस आदि करीब दो दर्जन ट्रेनें बरसात की वहज से प्रभावित हैं। 
 
फोटो-27यूपीएच मथुरा01
चित्र परिचय-नौहझील क्षेत्र में जलभराव से बंद हुआ गांव का रास्ता।