गंगा दशहरा: मन मसोस कर लगाई श्रद्धालुओं ने यमुना में डुबकी

गंगा दशहरा: मन मसोस कर लगाई श्रद्धालुओं ने यमुना में डुबकी

कोमल सोलंकी
मथुरा। गंगा दशहरा पर श्रद्धालुओं ने विश्राम घाट सहित दूसरे धार्मिक महत्व के घाटों पर मन मसोस कर डुबकी लगाई। यमुना जल के प्रदूषण के प्रभाव को कम करने के लिए यमुना में गंगा जल छोड़ा गया थो जो दशहरा की पूर्व संध्या तक मथुरा के घाटों पर पहुंच गया था। गंगा जल छोड़े जाने से यमुना का जल स्तर भी बढ़ गया और प्रदूषण भी कुछ कम हुआ। विश्राम घाट पर पम्पों से भी पानी छोड़ा गया जिससे घाट पर कुछ सही पानी दिख सके। इतनी कवायद के बाद भी श्रद्धालुओं ने मन मसोस कर यमुना में डुबकी लगाई। यमुना घाटों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु दशहरा मनाने पहुुंचे लेकिन सब यमुना में डुबकी लगाने की हिम्मत नहीं जुटा सके। 

तरबूज, खरबूज नहीं दिखे
इस बार खरबूज और तरबूज बाजार में दशहरा के दिन भी कम ही नजर आये। जनपद में हुई ओलावृष्टि से शुरूआती दौर में ही पालेज और तरबूज खरबूज जैसी फसलों को भारी नुकसान हुआ। दशहरा पर शीतलता देने वाले इन फलों के सेवन की भी परंपरा से रही है। भीषण गर्मी में भी इस बार लोगों को तरबजू खरबूज का स्वाद लेने का कम ही मौका मिला। दशहरा पर भी इक्का दुक्का स्थानों पर ही ये बिकते दिखे। 25 से 30 रुपये प्रति किलोग्राम की की कीमत में कम लोग ही इस फल को खरीदने की हिम्मत जुटा पाये। 

शीतल वस्तुओं का किया दान
गंगा दशहरा के अवसर पर शीतलता देने वाली वस्तुओं का लोगों ने दान किया। पंखा, मटका आदि वस्तुएं वितरित की गई। जगह जगह मीठे पानी और शर्बत की प्याऊ लगाई गर्इं। श्रद्धाभाव से लोगों ने दूरदराज से पहुंचे श्रद्धालुओं की सेवा की, यमुना घाटों को जाने वाले मार्गों पर थोड़ी थोड़ी दूरी पर प्याऊ लगी हुई थीं। 

मंदिरों में रही श्रद्धालुओं की भीड़
मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़भाड़ रही। वृंदावन और मथुरा के मंदिरों में इस अवसर पर दूरदराज से आये श्रद्धालुओं ने दर्शन किये। भीड़ का असर यातायात व्यवस्था पर भी दिखा। वृंदावन में भीड़ का दबाव ज्यादा दिखा। मथुरा में विश्राम घाट पर यमुना में डुबकी लगाने के बाद श्रद्धालुओं ने ठा.द्वारिकाधीश मंदिर में दर्शन किये। श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर भी भीड़भाड़ रही।  वृंदावन में ठा.बांकेबिहारी मंदिर सहित दूसरे मंदिरों पर भी भीड़ का दबाव रहा।  

फोटो-22यूपीएच मथुरा02
चित्र परिचय-गंगा दशहरा के अवसर पर प्रसिद्ध विश्राम घाट पर स्नान करते श्रद्धालु।