धमाकेदार आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर खड़ा है भारत: अडाणी

नयी दिल्ली.... अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी ने कहा कि भारत शानदार आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर खड़ा है और माल एवं सेवा कर (जीएसटी), आधार एवं जन-धन जैसी योजनाओं से देश में दशकों तक मजबूत आर्थिक वृद्धि का आधार तैयार होगा। उन्होंने कहा कि भारत की सात प्रतिशत से अधिक वृद्धि दर रहने पर देश 2030 तक विश्व की तीसरी और 2050 तक दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स के बिजनेस कांक्लेव को यहां संबोधित करते हुए अडाणी ने कहा, ‘‘भारत शानदार आर्थिक वृद्धि के ऐसे रास्ते पर पहुंच चुका है जो आधुनिक इतिहास में किसी भी देश ने नहीं देखा है।’’ उन्होंने कहा कि पिछले कुछ साल में नरेंद्र मोदी सरकार ने स्थिति को बदलने वाली नीतियां पेश की हैं जो देश भर में आधारभूत बदलाव लाएंगे। जीएसटी आंतरिक बाजार को एकीकृत करेगा और सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि में उत्प्रेरक का काम करेगा।

अडाणी ने कहा कि 1.3 अरब लोगों को एक समान पहचान मंच पर लाने वाली आधार कार्ड की उल्लेखनीय पहल है जो कर संग्रह तथा प्रत्यक्ष लाभ वितरण दोनों के लिए बदलाव लाने वाला है। यह सरकार के छूट प्रबंधन के तरीके को बदल देगा। जन-धन योजना के तहत 31 करोड़ बैंक खाते खोले गये हैं और महज तीन साल में इनमें 73 हजार करोड़ रुपये जमा हुए हैं। इसके अलावा डिजिटल भारत क्रांति भी जारी है जो यह सुनिश्चित करता है कि 2020 तक 100 करोड़ भारतीयों के हाथों में मोबाइल फोन हो। 50 करोड़ से अधिक इंटरनेट उपभोक्ता ऑनलाइन हुए हैं जो तकनीकी क्रांति ला रहा है।

अडाणी ने कहा ये सभी मुहिम मिलकर भारत को इस तरह बदल देंगे जो सोचना मुश्किल है। यह समाज के निचले तबके के लिये संभावनाओं के द्वारा खोल देगा, मध्यम वर्ग का विस्तार होगा जिससे कि दशकों की मजबूत वृद्धि का मार्ग प्रशस्त होगा।